उत्तरप्रदेशकानपुर देहातफ्रेश न्यूज

कृषि विभाग के अंतर्गत संचालित योजनाओं से कृषकों के जीवन में आया आमूलचूल परिवर्तन।

‘‘हमारा प्रयास जनपद का विकास‘‘ श्रृंखला के अंतर्गत आज कृषि विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की प्रगति और उनसे कृषकों को होने वाले लाभ के विषय में चर्चा करेंगे। हमारे मा0 प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और यशस्वी मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के प्रेरणादाई नेतृत्व में किसानों के हितार्थ विभिन्न प्रकार की योजनाएं संचालित है।जिससे कृषकों के जीवन में आमूलचूल परिवर्तन उपस्थित हुआ है

कानपुर देहात। ‘‘हमारा प्रयास जनपद का विकास‘‘ श्रृंखला के अंतर्गत आज कृषि विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की प्रगति और उनसे कृषकों को होने वाले लाभ के विषय में चर्चा करेंगे। हमारे मा0 प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और यशस्वी मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के प्रेरणादाई नेतृत्व में किसानों के हितार्थ विभिन्न प्रकार की योजनाएं संचालित है।जिससे कृषकों के जीवन में आमूलचूल परिवर्तन उपस्थित हुआ है। इनमें सबसे पहली व महत्वपूर्ण योजना है प्रधानमन्त्री किसान सम्मान निधि योजना, इसके अन्तर्गत किसानों को प्रतिवर्ष 6000 रू0 की धनराशि उनके खातों में सीधे हस्तांतरित की जाती है। इस योजना का लाभ पति-पत्नी में किसी एक को देय है। इस योजना से कृषकों को खाद और बीज खरीदने में सुविधा होने लगी, इसी तरह पारदर्शी किसान सेवा योजना (डी०बी०टी०) जिसके अन्तर्गत किसानों को रवी में चना, मटर, राई, सरसों, गेहूँ, जौ, खरीफ में धान, बाजरा, मक्का, उड़द, मूँग एवं जायद में उर्द, मूंग के बीजों में अनुदान दिया गया। कुल धनराशि 179.225 लाख रुपये डी०बी०टी० के माध्यम से कृषकों के खातों में विभिन्न योजनाओं (राष्ट्रीय कृषि विकास योजना, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन योजना, प्रमाणित बीज, संकर बीज, बीज ग्राम योजना एवं मैकेनाइजेशन) के अन्तर्गत अनुदान की धनराशि हस्तान्तरित की गयी।

इसके अलावा सोलर फोटो वोल्टेइक पम्प योजना (पी०एम०कुसुम) संचालित है, इस योजना के अन्तर्गत कृषकों को 5 एच०पी० पर 40 प्रतिशत एवं 2 एच०पी० एवं 3 एच०पी० पर 70 प्रतिशत अनुदान देय है। योजनान्तर्गत 2023 तक 112 सोलर पम्पों की स्थापना पर रू0 50.73 करोड़ धनराशि कृषकों को अनुदान के रूप में आर्थिक सहायता प्रदान की गयी। इसी तरह कृषि यंत्रीकरण एवं इन सीटू मैनेजमेंट योजना के अन्तर्गत वर्ष 2023-24 में कुल 227 कृषकों को अनुदान की धनराशि डी०बी०टी० के माध्यम से कृषकों के बैंक खातों में 277.42 करोड़ रुपये की धनराशि का अनुदान लाभ प्रदान किया गया। कृषकों के लिए एक महत्वपूर्ण योजना सब मिशन ऑन एग्रीकल्चर एक्सटेंशन (आत्मा) योजना है, इसके अन्तर्गत नवीन तकनीक की जानकारी प्रदान करने के उद्देश्य से 280 किसानों को राज्य के बाहर कृषक प्रशिक्षण कार्यक्रम, 650 कृषकों को राज्य के अन्दर कृषक प्रशिक्षण, तथा 2140 जनपद के अन्दर कृषक प्रशिक्षण का आयोजन कराया गया। इसी प्रकार 950 कृषकों को राज्य के अन्दर शैक्षणिक भ्रमण तथा 500 कृषकों का जनपद के अन्दर भ्रमण कार्यक्रम आयोजित कराये गये।

500 खण्ड प्रदर्शन एवं 50 फार्म स्कूल आयोजित कराकर, कृषकां को नवीन तकनीकी तथा लाइन से बुआई, संतुलित उर्वरकों का उपयोग, जैविक खेती/प्राकृतिक खेती इत्यादि के लिए जागरूक जनपद स्तर पर रबी उत्पादकता गोष्ठी/खरीफ उत्पादकता गोष्ठी तथा विकास खण्ड स्तर पर 10-10 रबी एवं खरीफ गोष्ठियों का आयोजन कर लगभग 12 हजार कृषकों को लाभान्वित किया गया। इसी प्रकार संकर बीज को बढावा देने की योजना भी जनपद में संचालित है, योजनान्तर्गत वित्तीय वर्ष 2023-24 में 2825 किसानों को रू0 78.73 लाख रुपये बीज पर अनुदान के रूप में डी०बी०टी० के माध्यम से प्रदान किये गये। इसके अलावा जनपद में प्रमाणित बीजों पर अनुदान की योजना भी संचालित है, इसके अंतर्गत किसानों को उन्नत नस्ल के प्रमाणित बीज 50 प्रतिशत अनुदान पर उपलब्ध कराये जाते है। वित्तीय वर्ष 2023-24 में 3131 किसानों को रू0 100.49 लाख रुपये बीज अनुदान के रूप में डी०बी०टी० के माध्यम से प्रदान किये गये। इस प्रकार से शासन प्रशासन के प्रयासों से इन लाभकारी योजनाओं के माध्यम से न केवल कृषकों को कृषि उपज में मदद की जा रही है, अपितु इन योजनाओं से आच्छादित कर कृषकों के जीवन को समुन्नत बनाया जा रहा है। जिलाधिकारी आलोक सिंह के प्रेरणादायक नेतृत्व व कृषि अधिकारियों की कर्मठता के कारण जिले के कृषक इन योजनाओं का लाभ उठाकर खुशहाली भरा जीवन जी रहे हैं।

Print Friendly, PDF & Email
anas quraishi
Author: anas quraishi

SABSE PAHLE

Related Articles

AD
Back to top button