Clickadu
कानपुर देहातफ्रेश न्यूज

जिलाधिकारी और सीडीओ सौम्या ने विद्यालय की खराब स्थिति होने पर बीएसए को जारी किया कारण बताओ नोटिस

शिक्षा और स्वास्थ्य को समाज का आधार मानते हुए जिलाधिकारी नेहा जैन एवं मुख्य विकास अधिकारी सौम्या पाण्डेय ने जनपद के प्राथमिक विद्यालय कृपालपुर, जनता इण्टर कालेज बाढ़ापुर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अकबरपुर, पूल्ड हाउस में स्थित आफीसर्स कालोनी, अकबरपुर में स्थित मुख्य बाजार, अकबरपुर इण्टर कालेज में चल रहे हाईस्कूल की परीक्षा के मूल्यांकन कार्य का निरीक्षण किया।

Story Highlights
  • अकबरपुर की मुख्य बाजार में समुचित व्यवस्था न होने पर मुख्य विकास अधिकारी ने अधिशासी अधिकारी को जारी किया चेतावनी
  • कृपालपुर आंगनबाड़ी केन्द्र में बच्चां की उपस्थिति शून्य पाये जाने पर जिला कार्यक्रम अधिकारी को जारी किया गया स्पष्टीकरण
  • सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में निरीक्षण के दौरान एमओआईसी मिले अनुपस्थित

कानपुर देहात, अमन यात्रा :शिक्षा और स्वास्थ्य को समाज का आधार मानते हुए जिलाधिकारी नेहा जैन एवं मुख्य विकास अधिकारी सौम्या पाण्डेय ने जनपद के प्राथमिक विद्यालय कृपालपुर, जनता इण्टर कालेज बाढ़ापुर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अकबरपुर, पूल्ड हाउस में स्थित आफीसर्स कालोनी, अकबरपुर में स्थित मुख्य बाजार, अकबरपुर इण्टर कालेज में चल रहे हाईस्कूल की परीक्षा के मूल्यांकन कार्य का निरीक्षण किया। इस क्रम में जिलाधिकारी और मुख्य विकास अधिकारी ने प्र्राथमिक विद्यालय कृपालपुर का निरीक्षण किया.

जहां पर प्रधानाध्यापक मेडिकल लेकर छुट्टी पर थी, उनकी उपस्थिति में विद्यालय का काम काज अंजू सचान जो अध्यापिका पद पर थी देख रही थी लेकिन उनको विद्यालय की व्यवस्था को लेकर कोई जानकारी नही थी, विद्यालय में कमजोर बच्चों के लिए अलग से कोई क्लास नही थी, अभिमन्यु नामक बच्चों को जिलाधिकारी ने पढ़ाकर अपने सामने देखा, इस तरह के बच्चों के लिए प्रायः विद्यालयों में अलग से क्लासेस चलती है, परन्तु यहां पर कोई व्यवस्था दिखायी नही दी, साथ ही विद्यालय में स्कूल चलो अभियान का कोई रिकार्ड मौजूद नही था, बीएसए को इसके लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया गया क्योकि विद्यालय की खराब स्थिति बीएसए की लापरवाही को दर्शाता है कि उन्होंने इस विद्यालय का कभी भी निरीक्षण इत्यादि नही किया, विद्यालय में फर्नीचर आदि की स्थिति अत्यन्त खराब थी, इसी विद्यालय में स्थित आंगनबाड़ी केन्द्र में निरीक्षण करने पर पता चला कि यहां पर 56 बच्चे पंजीकृत है पर एक भी बच्चा उपस्थित नही था, इस पर जिला कार्यक्रम अधिकारी को स्पष्टीकरण जारी किया गया है, साथ ही निर्देशित किया गया है कि वह स्वयं जाकर आंगनबाड़ी केन्द्र को देखेंगे। जीएम डीआईसी को तीन चार दिन में यहां पर फर्नीचर इत्यादि की व्यवस्था कराने के लिए कहा गया है।

इसके बाद जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी ने जनता इण्टर कालेज बाढ़ापुर का निरीक्षण किया, जनता इण्टर कालेज एडेड कालेज है, जो जिला विद्यालय निरीक्षक के अन्तर्गत आता है, यह कॉलेज अत्यन्त जीर्णशीर्ण अवस्था में था, यहां पर कोई भी अध्यापक उपस्थित नही था, इसके लिए जिला विद्यालय निरीक्षक को शीघ्र अतिशीघ्र यहां के अवसंरचनात्मक ढॉचे को ठीक कराने के लिए कहा गया है, इसके बाद जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अकबरपुर का निरीक्षण किया, सीएचसी में एमओआईसी डा0 आईएच खान 9ः30 बजे तक अनुपस्थित थे, वहां पर जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी ने कुछ मरीजों से बात भी की, वहां पर पीने के पानी का वाटर कूलर खराब था, फार्मासिस्ट जो दवाई देता था वह दुकान पर नही था, जन औषधि केन्द्र पर दवाईयां उपलब्ध नही थी, शौचालय के पास बहुत बदबू आ रही थी, जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी ने महिला वार्ड का भी निरीक्षण किया, वहां पर पता चला कि गर्भवती महिलाओं को मातृत्व वंदना योजना और जननी सुरक्षा योजना के तहत जो लाभ मिलने चाहिए वह लाभ उनको नही मिल रहा था, उनके खाते ही नही खुले थे, इसके लिए मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया गया है कि गर्भावस्था के पहले ही सभी महिलाओं के खाते खुलवाना सुनिश्चित करें, जिससे महिलाओं को सरकार की चल रही योजनाओं से लाभ दिलाया जा सके, यहां पर कैन्टीन की सुविधा नही थी, खाद्य पदार्थ जिला अस्पताल से यहां आते थे, जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि यहां पर कैन्टीन इत्यादि की व्यवस्था शीघ्र करायी जाये.

इसके अलावा जिलाधिकारी ने कहा है कि सभी प्राइवेट अस्पतालों की मान्यता इत्यादि चेक की जाएगी, इसके बाद जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी पूल्ड हाउस आफीसर्स कालोनी और ट्रॉजिट हॉस्टल गये, वहां जगह-जगह घास उगी मिली, ऐसा लग रहा था यहां वर्षो से पेन्टिंग इत्यादि नही की गयी है, पूल्ड हाउस में स्थित मैदान के लिए प्रभागीय वनाधिकारी को निर्देशित किया गया है कि वहां वह वृक्षारोपण इत्यादि करवायें, जिससे वहां की स्थिति सुधर सके, जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि पेन्टिंग इत्यादि के लिए जो बजट आवंटित होता है नाजिर उसका पूरा ब्यौरा प्रस्तुत करें, इसके बाद जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी ने अकबरपुर में स्थित मुख्य बाजार का निरीक्षण किया, मुख्य विकास अधिकारी ने एक सप्ताह पहले भी इस बाजार का निरीक्षण किया था और अधिशाषी अधिकारी को निर्देशित किया था कि वहां इण्टरलॉकिंग लगवाये, कब्जा हटवाये और चबूतरा बनवाकर एक-एक सब्जी वाले को आवंटित करे, परन्तु ईओ अकबरपुर ने इस निर्देश का पालन नही किया, मुख्य विकास अधिकारी की तरह से उन्हें दोबारा चेतावनी जारी की गयी है.

जिलाधिकारी ने निर्देशित किया है कि इस सम्पूर्ण मण्डी को सुव्यवस्थित किया जाये, साफ सफाई की जाये, शौचालय इत्यादि की अच्छी व्यवस्था हो, अलग-अलग चबूतरे यहां बनाये जाये और सब्जी बिक्रेता को आवंटित किया जाये, इसके अलावा पीओ डूडा को निर्देशित किया गया है कि यहां पर हर सब्जी बिक्रेता को स्वामित्व योजना से आच्छादित करेंगे, यहां पर यह भी देखा गया कि यहां पर कोई डिजिटल पेमेन्ट नही होता है, जिलाधिकारी ने कहा कि यहां पर हर सब्जी बिक्रेता के पास सुविधा होनी चाहिए कि वह डिजिटल माध्यम से भुगतान कर सके, इसके बाद जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी ने अकबरपुर इण्टर कालेज का निरीक्षण किया, जहां पर परीक्षाओं का मूल्यांकन चल रहा था, मूल्यांकन पर अनुपस्थित रहने पर अध्यापक के खिलाफ क्या कार्यवाही की जाये, साथ ही जिस विद्यालय के सारे अध्यापक मूल्यांकन काम में लगे है वह विद्यालय कैसे संचालित है, इसके लिए जिला विद्यालय निरीक्षक से स्पष्टीकरण मांगा गया है, कमरें में यहां लाइटे नही थी, पंखे नही चल रहे थे, इसके लिए प्रधानाध्यापक को बोला गया कि इसको शीघ्र अतिशीघ्र ठीक कराये।

AMAN YATRA
Author: AMAN YATRA

SABSE PAHLE

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button