Clickadu
लाइफस्टाइल

टिप्स : इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए अजवाइन से तैयार काढ़ा होता है शानदार,जाने ?

अजवाइन में सूजन रोधी गुण होने के चलते इम्यूनिटी बढ़ाने में भी मुफीद माना जाता है.

घर पर आसानी से आजवाइन के काढ़ा को तैयार कर इस्तेमाल किया जा सकता है.

Carom seeds have many benefits for health, Immunity-boosting kadha is good in pandemic season

बीमारियों से बचने के लिए मजबूत इम्यून सिस्टम का होना जरूरी है. इम्यून सिस्टम एक मजबूत दीवार की तरह होता है. ये बाहरी और अंदरुनी बीमारी पैदा करनेवाले पैथोजेन से हमें सुरक्षित रखता है. इम्यून सिस्टम बीमारी, संक्रमण के खिलाफ बचाव करता है. जख्मी होने पर बहुत कम समय में इम्यून सिस्टम ठीक होने में मदद करता है. स्वस्थ जिंदगी का ये एक अहम हिस्सा है. इसलिए विशेषज्ञ हमेशा मजबूत इम्यूनिटी की वकालत करते रहे हैं.

कोरोना वायरस महामारी और आनेवाले फ्लू के मौसम में मजबूत अंदरुनी रक्षा तंत्र का होना ज्यादा जरूरी है. हालांकि इम्यूनिटी बनने में समय लगता है. मगर इसे जीवन शैली में बदलाव लाकर हासिल किया जा सकता है. रोजाना कसरत, समय पर सोना, पौष्टिक खाना इम्यूनिटी को मजबूत करने में अहम भूमिका निभाते हैं. अगर आप अपने इम्यून सिस्टम को मजबूती देना चाहते हैं तो अजवाइन का काढ़ा इस्तेमाल कर सकते हैं.

अजवाइन के फायदे
अजवाइन स्वाद में कड़वा जरूर होता है मगर इसका सुगंध खाने को जायकेदार बनाता है. खास तौर से इसका इस्तेमाल अचार और चटनी में किया जाता है. अजवाइन हर भारतीय घरों में पाया जानेवाला आम मसाला है. छोटे बीजों में जबरदस्त औषधीय गुण पाए जाते हैं. ये शानदार सूजन रोधी एजेंट का काम करता है. अजवाइन में सूजन रोधी गुण होने के चलते इम्यूनिटी बढ़ाने में भी मुफीद माना जाता है. ये सर्दी और खांसी के लक्षणों से राहत पहुंचाने का काम करता है. अजवाइन में एंजाइम पाचन तंत्र को ठीक रखता है.

अजवाइन से काढ़ा बनाने के सामान
आधा चम्मच अजवाइन
5 तुलसी की पत्तियां
आधा चम्मच काली मिर्च का पाउडर
एक चम्मच शहद

अजवाइन से काढ़ा कैसे करें तैयार?
गहरे बर्तन में एक ग्लास पानी, अजवाइन, काली मिर्च का पाउडर और तुलसी की पत्तियों को मिलाएं. पांच मिनट तक पानी को उबलने दें. उसके बाद गैस को बंद कर दें. शहद मिलाने से पहले मिश्रण को थोड़ी देर ठंडा होने दें. काढ़ा जब तैयार हो जाए तो दिन में एक बार सेवन करें. अजवाइन से बना काढ़ा कुछ लोगों के लिए इस्तेमाल करना नुकसानदेह हो सकता है. गर्भवती या स्तनपान करानेवाली महिलाओं को अजवाइन से बने काढ़ा के इस्तेमाल से बचना चाहिए. अगर आपकी सर्जरी होनेवाली है तो ऑपरेशन से दो सप्ताह पहले काढ़े को पीना छोड़ देना चाहिए. लीवर संबंधित समस्याओं से जूझ रहे महीजों को भी अजवाइन के काढ़ा के प्रति सावधान रहना चाहिए.

AMAN YATRA
Author: AMAN YATRA

SABSE PAHLE

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button