Clickadu
कानपुर देहातउत्तरप्रदेशफ्रेश न्यूज

तेज गति से आ रही अनियंत्रित डीसीएम ने तीन बच्चों को रौंदा, दो की मौत, एक घायल जिसका उपचार जारी

जिलाधिकारी नेहा जैन व पुलिस अधीक्षक सुनीति द्वारा जनपद में हुई हृदय विदारक घटना का स्थलीय निरीक्षण किया जिसमें यह तथ्य संज्ञान में आया कि कोतवाली अकबरपुर क्षेत्र के चौकी जैनपुर अन्तर्गत हाइवे के किनारे सर्विस रोड पर पेप्सी चौराहा समीप शाम को बच्चे कोचिंग पढ़कर पैदल अपने घर वापस आ रहे थे, तभी झांसी की ओर से आ रही तेज गति से आ रही अनियंत्रित डीसीएम डिवाइडर तोड़ते हुए सर्विस रोड पर अपने घर जा रहे तीन बच्चों को अपनी चपेट में ले लिया.

Story Highlights
  • जिलाधिकारी नेहा जैन व पुलिस अधीक्षक सुनीति द्वारा जनपद में हुई हृदय विदारक घटना का किया स्थलीय निरीक्षण

कानपुर देहात,अमन यात्रा  : जिलाधिकारी नेहा जैन व पुलिस अधीक्षक सुनीति द्वारा जनपद में हुई हृदय विदारक घटना का स्थलीय निरीक्षण किया जिसमें यह तथ्य संज्ञान में आया कि कोतवाली अकबरपुर क्षेत्र के चौकी जैनपुर अन्तर्गत हाइवे के किनारे सर्विस रोड पर पेप्सी चौराहा समीप शाम को बच्चे कोचिंग पढ़कर पैदल अपने घर वापस आ रहे थे, तभी झांसी की ओर से आ रही तेज गति से आ रही अनियंत्रित डीसीएम डिवाइडर तोड़ते हुए सर्विस रोड पर अपने घर जा रहे तीन बच्चों को अपनी चपेट में ले लिया, जिससे बच्चे गंभीर रूप से घायल हो गये। घटना को देख आसपास के लोग मौके पर पहुंचे। वहीं सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंची और घायल बच्चों को उपचार हेतु जिला चिकित्सालय लाये, जहां चिकित्सकों ने दो बच्चों को मृत घोषित कर दिया, जबकि एक बच्ची को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। हालत गंभीर होने पर चिकित्सकों ने उसे कानपुर के लिए उसे रिफर किया गया जिसके उपरान्त उसके परिजनों परिजनों द्वारा बच्चे को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ये भी पढ़े-  औरैया पुलिस ने छात्र की मौत पर प्रदर्शन करने वाले 9 लोगों को किया गिरफ्तार

ग्रामीण व परिजनों ने घटना को लेकर सड़क जाम करने का प्रयास किया, पर पुलिस की मुश्तैदी से यह प्रयास सफल न हो सका। से यह नहीं हो सका पता चला है कि घायल बालिका गुनगुन को सांय समय अकबरपुर के पुष्पेय हास्पिटल में भर्ती कराया गया है जिसका हालचाल लेने स्वयं जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक मौके पर पहुँची। बताया जाता है कि बालिका का पैर फैक्चर होने के कारण आपरेशन होगा। जानकारी के मुताबिक रूरा क्षेत्र के सरायं गढेवा निवासी दीपक उर्फ अश्वनी जो अपनी पत्नी प्रीती सहित 3 बच्चे आयुषी, आर्यन व गुनगुन के साथ जैनपुर स्थित स्वरूप पुर नई बस्ती में किराये पर रहकर एक फैक्ट्री में मजदूरी करते है। वहीं मूसानगर क्षेत्र के बलराम जो अपनी पत्नी म कविता शर्मा दो बच्चे अंश व आयुष के साथ स्वरूपपुर नई बस्ती में मकान बनाकर रह रहे थे और वह गाड़ी चलाकर अपने परिवार का भरण पोषण करता है। आर्यन कक्षा 6 का छात्र है, गुनगुन कक्षा-2 एवं अंश कक्षा-1 का छात्र है, जो यूपीएसआईडीसी स्थित एकलव्य स्कूल में पढ़ते हैं। साथ ही जैनपुर पेप्सी चौराहा स्थित एक कोचिंग सेंटर में प्रतिदिन पढ़ने जाते थे। प्रतिदिन की तरह सोमवार को वह कोचिंग पढ़कर तीनों बच्चे अपने घर को सर्विस रोड के किनारे-किनारे वापस आ रहे थे। तभी झांसी की ओर से आ रही तेज एवं अनियंत्रित डीसीएम डिवाइडर तोड़ते हुए सीधे बच्चों को अपनी चपेट में ले लिया, जिससे बच्चे गंभीर रूप से घायल हो गये। घटना को देख आसपास के लोग मौके पर पहुंच, बच्चों को बाहर निकाला। वही घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची, जबकि डीसीएम चालक गाड़ी छोड़कर फरार हो गया। घटना इतनी दर्दनाक थी कि ग्रामीणों व परिजनों में खासा आक्रोश था। पुलिस द्वारा तत्काल घायलों को उपचार हेतु जिला चिकित्सालय ले जाया गया, जहां चिकित्सक डा0 पवन आर्या द्वारा बच्चे आर्यन व अंश को मृत घोषित कर दिया गया, जबकि गुनगुन को भर्ती कर उपचार किया गया।

ये भी पढ़े-  परिषदीय शिक्षकों, शिक्षामित्रों एवं अनुदेशकों को जल्द मिलेगा सामूहिक स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ

मृतक आर्यन की माँ प्रीती बार-बार रो-रो कर बेहोश हो रही थी, जिसका जायजा लेने हेतु उपजिलाधिकारी भूमिका यादव, क्षेत्राधिकारी प्रभात कुमार, कोतवाली प्रभारी भी पहुंचे वहीं क्षेत्र से भ्रमण कर वापस लौटते समय एसपी सुनीति भी जिला चिकित्सालय पहुंची जहां मृतक बच्चों के परिजनों को रोते देख एसपी सुनीति की भी आंखे नम हो गई और बच्चे को माँ प्रीती को गले लगाकर हिम्मत बंधाते हुए कहाकि जितना अधिक से अधिक संभव होगा उतना पुलिस की ओर से परिजनों की मदद की जायेगी। शवों को मर्चरी में रखवा दिया गया है, जिसका पोस्टमार्टम मंगलवार को कराया जायेगा। जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर डीसीएम को कब्जे में लेकर ड्राइवर की तलाश की जा रही है। देर रात जिलाधिकारी नेहा जैन व पुलिस अधीक्षक सुनीति, अकबरपुर के पुष्येय हास्पिटल में भर्ती छाला गुनगुन को देखने गयी और उन्होने वहाँ मौजूद परिजनो से बातचीत की तथा गुनगुन के बेहतर स्वास्थ्य के लिए डा. सुधांशु शर्मा, डा. एसडी शर्मा, डा. पुष्पा शर्मा से बातचीत की तो उन्हें बताया गया कि गुनगुन का आपरेशन होगा, जिसपर उन्होंने बच्ची का विशेष ध्यान दिए जाने के निर्देश संबंधित चिकित्सक को दिए।

AMAN YATRA
Author: AMAN YATRA

SABSE PAHLE

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button