Clickadu
कानपुर देहातउत्तरप्रदेशफ्रेश न्यूज

बच्चों को पाठ्य पुस्तकें शत प्रतिशत उपलब्धत कराएं, अन्यथा होगी कार्रवाई: जिलाधिकारी

जिलाधिकारी नेहा जैन द्वारा अकबरपुर विकास खण्ड क्षेत्र के माती किशुनपुर प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालय का निरीक्षण किया, निरीक्षण के दौरान उपस्थित इंचार्ज सहा0 अध्यापिका नीलम सिंह द्वारा बताया गया कि विद्यालय में कुल 79 छात्र-छात्राएं पंजीकृत है व उपस्थित बच्चों की संख्या कम होने पर जिलाधिकारी ने बच्चों की उपस्थिति शत प्रतिशत पूर्ण कराने के निर्देश दिए।

Story Highlights
  • अधिकारी गोद लिए आंगनवाड़ी एवं विद्यालयों में भ्रमण कर, संपूर्ण व्यवस्थाए दुरस्त कराएं: जिलाधिकारी
  • शिक्षक स्कूलों को बेहतर बनाएं, शिक्षा पर दे विशेष ध्यान: जिलाधिकारी

कानपुर देहात,अमन यात्रा  : जिलाधिकारी नेहा जैन द्वारा अकबरपुर विकास खण्ड क्षेत्र के माती किशुनपुर प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालय का निरीक्षण किया, निरीक्षण के दौरान उपस्थित इंचार्ज सहा0 अध्यापिका नीलम सिंह द्वारा बताया गया कि विद्यालय में कुल 79 छात्र-छात्राएं पंजीकृत है व उपस्थित बच्चों की संख्या कम होने पर जिलाधिकारी ने बच्चों की उपस्थिति शत प्रतिशत पूर्ण कराने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी के निरीक्षण दौरान विद्यालय में मात्र एक ही अध्यापिका उपस्थित मिली, जिस संबंध में उपस्थित सहा0 अध्यापिका नीलम सिंह द्वारा बताया गया कि 05 शिक्षक कार्यरत हैं जिसमें से एक शिक्षक बी0आर0सी0 केंद्र पर संचालित प्रशिक्षण लेने गयी हैं, एक शिक्षक मेडिकल व एक मातृत्व अवकाश पर हैं। निरीक्षण दौरान पूछे जाने पर बताया गया कि अभी तक किसी भी जिला स्तरीय अधिकारी द्वारा इस विद्यालय को गोद नहीं लिया गया है, जिस संबंध में उन्होनें जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को शीघ्र अधिकारी नामित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कायाकल्प अभियान के अंतर्गत विद्यालय में कोई कार्य नहीं पाया जिसके दृष्टिगत उन्होंने अधिशासी अधिकारी अकबरपुर को तत्काल माती किशुनपुर विद्यालय को शामिल करते हुए कायाकल्प कराये जाने के निर्देश दिये।

 उनको विद्यालय में साफ सफाई व्यवस्था दुरुस्त न मिलने पर कड़ी नाराजगी जताते हुए शीघ्र सफाई कराने के साथ ही विद्यालय को मॉडल विद्यालय के रूप में तैयार किये जाने के निर्देश दिए। उन्होंने विद्यालय में शिक्षण गुणवत्ता सही पायी। उन्होंने बच्चों को निपुण भारत लक्ष्य के तहत शिक्षा प्रदान करने तथा कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित ना रहे। जिलाधिकारी ने बच्चों से पुस्तक का पाठन आदि कराकर शिक्षा का स्तर की जानकारी ली तथा गुणवत्ता सही पायी। उन्होंने उच्च प्राथमिक में कक्षा 7 व 8 के छात्र छात्राओं को पुस्तकें वितरित की व बच्चों को पुस्तकों का ध्यान रख उच्च शिक्षा हेतु अग्रसारित होने हेतु प्रोत्साहित किया।

इसके पश्चात उन्होंने प्राथमिक विद्यालय नागिन जसी, अकबरपुर का निरीक्षण किया जिसके परिसर में 1956 का निर्मित निष्प्रयोज्य भवन के निस्तारण हेतु आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने गोद लिए विद्यालय के नामित मुख्य अग्निशमन अधिकारी से फ़ोन पर वार्ता कर विद्यालय की शिक्षण गुणवत्ता व अन्य गतिविधियों पर तीक्ष्ण नज़र रखने के निर्देश दिए। उन्होंने विद्यालय का निरीक्षण किया जिसमें भवन जर्जर अवस्था में पाया गया तथा कायाकल्प अभियान के अंतर्गत कोई कार्य नहीं पाया गया।

उन्होनें बच्चों से पुस्तक का पाठन आदि कराकर शिक्षा का स्तर की जानकारी ली जिसमें मात्र एक कक्षा 3 की छात्रा नैना ही पाठन करने में सक्षम प्रतीत हुई, जिसके उपरान्त उन्होंने सहा0 अध्यापक विनीता संखवार को शिक्षण में रुचि न अदिखाने व अपने कर्तव्यों का पालन पूर्ण तन्मयता से न करने के दृष्टिगत कड़ी फटकार लगाते हुए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को सभी शिक्षकों की जिम्मेदारी निर्धारित करने के निर्देश दिए। उन्होंने बच्चों को बुलाकर राजा व तोता का छोटा प्ले भी कराया जिससे छात्र छात्राओं का मनोबल बढ़ा। उन्होंने संबंधित बी0आर0सी0 को मुख्यालय के सभी विद्यालयों का कायाकल्प अभियान के अंतर्गत कायाकल्प कराये जाने के निर्देश दिए। इस मौके पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी रिद्धि पांडे, बी0आर0सी0 अकबरपुर सहित अन्य अधिकारी/ कर्मचारी उपस्थित रहे।

AMAN YATRA
Author: AMAN YATRA

SABSE PAHLE

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button