Clickadu
कानपुर देहात

सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने जिला कारागार का किया निरीक्षण, सुनी बन्दियों की समस्यायें

सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण कानपुर देहात साक्षी गर्ग ने बताया कि माननीय उच्चतम न्यायालय के दिशानिर्देश व राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ एवं जनपद न्यायाधीश/अघ्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण कानपुर अनिल कुमार झा के सरंक्षण एवं अनुमति से जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वाधान में दिनांक 28-07-2021 को जिला कारागार कानपुर देहात का निरीक्षण एवं विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया।

कानपुर देहात,अमन यात्रा। सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण कानपुर देहात साक्षी गर्ग ने बताया कि माननीय उच्चतम न्यायालय के दिशानिर्देश व राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ एवं जनपद न्यायाधीश/अघ्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण कानपुर अनिल कुमार झा के सरंक्षण एवं अनुमति से जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वाधान में दिनांक 28-07-2021 को जिला कारागार कानपुर देहात का निरीक्षण एवं विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। जेलर राजेंद्र प्रताप द्वारा बताया गया कि वर्तमान में कुल 1522 बन्दी निरूद्ध है जिसमें 1385 पुरुष ,71महिलाएं तथा 66 किशोर बंदी हैं।

ये भी पढ़े- जिलाधिकारी ने विटामिन ए की खुराक बच्चे को पिला, vit&A सम्पूर्ण अभियान का किया शुभारंभ

 

निरीक्षण के दौरान जेलर द्वारा निम्नलिखित बिन्दुओं से अवगत कराया गयाः-

’जो भी नए बंदी जेल में आते है या जो संदिग्ध प्रतीत होते है उनका प्रतिदिन कोविड -19 का टेस्ट होता है, जो बंदी धनात्मक पाये जाते है उनके आईशोलेशन की अलग व्यवस्था है। सचिव द्वारा निर्देशित किया गया कि कोविड-19 धनात्मक बन्दियों की उचित देखभाल किया जाए। प्रतिदिन  सेनीटाईजेशन के लिए निर्देशित किया गया।सचिव द्वारा पुरुष बन्दी सुबोध आउट्फ़िट रामकेश व शिवपाल तथा महिला बन्दी शांति बाई से बातचीत की गई व उनकी समस्यों को सुना गया तथा उनके निस्तारण हेतु जेलर को आवश्यक निर्देश दिये गये। सचिव द्वारा जेलर को निर्देशित किया गया कि बन्दियों के खाने की गुणवत्ता का ध्यान रखा जाए।जेलर को निर्देशित किया गया कि वे जिला कारागार में स्थित जेल लीगल क्लिनिक पर विशेष रूप से ध्यान दे ताकि जेल में निरुद्ध बंदियों को समय से व समुचित विधिक सहायता प्राप्त हो सके।

ये भी पढ़े- कुपोषित बच्चों के माता-पिता को टीकाकरण हेतु वैक्सीनेशन केन्द्र पर दी जाये प्राथमिकता : जिलाधिकारी

सचिव द्वारा ऊ.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के पत्र दिनांकित 20-07-21 के तहत जेल अधिकारियों को समयपूर्व रिहा किए जा सकने वाले दोषसिद्ध बंदियों की सूची भी तैयार कराए जाने के निर्देश दिए गए।निरीक्षण तथा शिविर कि दौरान उप जेलर कुश कुमार सिंह, मिथलेश सिंह तथा शिवाजी सिंह यादव उपसथित रहे।

 

AMAN YATRA
Author: AMAN YATRA

SABSE PAHLE

Related Articles

Back to top button