Clickadu
फतेहपुरउत्तरप्रदेशफ्रेश न्यूज

साहिब ! रोजाना चार पहिया, दो पहिया वाहन बडे-बडे गढ्ढो के कारण पलटते है

क्षेत्र की सड़कों में रोजाना चार पहिया दो पहिया वाहन बडे-बडे गढ्ढो के कारण पलट रहे हैं.गड्ढों में बारिश का पानी भर गया इससे लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। वहीं धाता हिनौता रोड जो कई मुख्यालयों को जोडने वाली रोड पर आज सुबह सरिया व पाईप लदा डीसीएम गड्ढों के कारण सड़क पर पलट गया लेकिन डीसीएम चालक बाल बाल बचा। 

Story Highlights
  • सरिया व पाईप लदा डीसीएम गड्ढों के कारण सड़क पर पलटा, चालक बाल-बाल बचा  

धाता, अमन यात्रा । क्षेत्र की सड़कों में रोजाना चार पहिया दो पहिया वाहन बडे-बडे गढ्ढो के कारण पलट रहे हैं.गड्ढों में बारिश का पानी भर गया इससे लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। वहीं धाता हिनौता रोड जो कई मुख्यालयों को जोडने वाली रोड पर आज सुबह सरिया व पाईप लदा डीसीएम गड्ढों के कारण सड़क पर पलट गया लेकिन डीसीएम चालक बाल बाल बचा। धाता में करीब एक हफ्ते से लगातार   बारिश से सड़कों पर भरा पानी बारिश से सड़को के गड्ढों में जलभराव हो गया। जगह-जगह सड़कें धंस गईं और खोदाई वाली जगहों पर कीचड़, दलदल के कारण लोगों को दोपहिया वाहन निकालना मुश्किल हो गया।

ये भी पढ़े-  होमगार्ड के जवानों ने अमृत सरोवर के किनारे किया पौधारोपण

ब्लॉक के पास बीचों बीच सड़क में दो फिट गड्ढे में पानी भरा होने से तीन दिनों से आधा दर्जन ई रिक्शा  एक दर्जन स्कूलों के बच्चों की साईकिल व कार फस गयी जिन्हें लोग ने निकाला . धाता हिनौता रोड जो कौशांबी, प्रयागराज, बांदा चित्रकूट आदि जिलों को जोड़ने वाली रोड पर धाता से कबरहा के पास एक लेन पर गड्ढों के कारण डीसीएम पलट गया जिससे करीब दो घंटे तक जाम लगा रहा।   डीसीएम सरिया पैंप आदि समान लादकर कर्वी जा रही थी क्षेत्रीय लोगों की मदद से लोडिंग डीसीएम को निकाला ।

ये भी पढ़े-   पशुओं को लंपी वायरस रोग से बचाव हेतु टीकाकरण शुरू

लोक निर्माण विभाग के ऐई एस एम   हादी का कहना है कि गैंग पत्थर भर रही है पत्थर खत्म हो गया है जल्द ही पत्थर मगंवाकर गैंग द्धारा भरवाया जा रहा है। धाता कबरहा गांव निवासी आशीष सिंह का कहना है कि  कल यानी सोमवार को इसी गड्डे में एक ट्रक भी फंस गया था जिसको जेसीबी की मदद से निकाला गया था हर दिन बडे से लेकर छोटे वाहन गड्ढों में फंसकर पलट रहे हैं। लगातार हादसे हो रहे हैं, लेकिन न गड्ढे भरे जा रहे हैं सड़क बारिश में नहीं बन सकतीं, पर गड्ढों में गिट्टियां तो भरी जा सकती हैं।धीरेंद्र केसरवानी रोड निवासी ने कहा कि लोडिंग वाहन पलटने से गरीब लोगों का नुक़सान भी हो रहा किसी दिन कहीं बडे हादसे का शिकार ना हो जाए ये डर इस क्षेत्र की लोगो में बना रहता है गिट्टियां बिछा दी जाएं तो ये हादसे बंद हो जाएंगे।

AMAN YATRA
Author: AMAN YATRA

SABSE PAHLE

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button