Clickadu
लाइफस्टाइल

अगर आपके बच्चे भी ज्यादा मोबाइल देखते हैं तो इन टिप्स का करें यूज

आज की सोशल मीडिया वाली लाइफ में सभी के लिए स्‍मार्टफोन बेहद जरूरी हो गए हैं. वहीं बच्‍चों को भी फोन में गेम खेलने और कार्टून देखने की लत लग गई है.

टिप्स : आज की सोशल मीडिया वाली लाइफ में सभी के लिए स्‍मार्टफोन बेहद जरूरी हो गए हैं. वहीं बच्‍चों को भी फोन में गेम खेलने और कार्टून देखने की लत लग गई है. लेकिन हम सभी को पता है कि बच्चों के लिए फोन का इस्तेमाल बहुत ही खतरनाक साबित हो सकता हैं. अगर आप भी अपने बच्चे की ये आदत बदलना चाहते हैं तो हम आपको कुछ ऐसे तरीके बताने जा रहे हैं है, जिनकी मदद से आप आसानी से अपने बच्‍चों को फोन से दूर रख सकते हैं.
आउटडोर गेम्‍स – लोगों का जिंदगी जीने का तरीका अब पहले से बहुत बदल गया है. पहले के बच्चे घर से बाहर जाकर खेलना पसंद करते थे, लेकिन आज देश में खराब हालातों को देखते हुए माता-पिता बच्चों को घर से बाहर जाने नहीं देते. ऐसे में वो घर पर ही स्‍मार्टफोन को ही अपना दोस्‍त बना लेते हैं. और धीरे-धीरे उन्हें इसकी लत लग जाती है. इसलिए हमें बच्चों को बाहर खेलने के लिए भेजना चाहिए. उसे इस लत से बचाने के लिए आप उसे रोज पार्क ले जा सकते हैं.

मोबाइल से रखें दूर – बच्‍चों को फोन से दूर रखना बहुत ही मुश्किल होता है. लेकिन अगर आप उसका उसका एक टाइम टेबल बना देंगे तो उसे फोन की लत नही लगेगी. और वो सिर्फ तय वक्त पर ही फोन देखेंगे. आप बच्चों को खाना खाते वक्त, पढ़ते वक्त बिल्कुल भी फोन ना दें.

पासवर्ड का यूज – अक्सर बच्चे फोन तभी यूज करते हैं जब आप उनके पास नहीं होते. अगर आप चाहते हैं कि वो ऐसा ना करें तो अपने फोन में पासवर्ड लगाकर रखें. इससे वो आपकी गैर-मौजूदगी में वो फोन का यूज बिल्कुल नहीं कर पाएंगे.

​नेचर लव – प्रकृति हम सभी के लिए एक नेचुरल थेरेपी का काम करती है. साथ ये बच्चों को फोन से दूर रखने के लिए भी सबसे आसान तरीका है. इसके लिए आप अपने घर में गार्डन बना सकते हैं जिसमें बच्चे एंजॉय कर सकें. या फिर आप उन्हें पार्क में घूमाने ले जा सकते हैं. जहां वो दूसरे बच्चों के साथ खेल सकें.

इनडोर गेम – माता-पिता होने के नाते बच्चों के लिए आपकी जिम्मेदारी बहुत ज्यादा होती है. आप ही उन्हें सही और गलत के बीच का फर्क सिखा सकते हैं. इसलिए फोन से दूर रखने के लिए आप उनके साथ बोर्ड गेम खेलें या कुकिंग या बागवानी जैसे काम करें.

बच्‍चों को टाइम दें – आप चाहते हैं कि आपका बच्चा फोन ना देखें तो उसके लिए जरूरी है कि आप उसे इसके फायदे और नुकसान दोनों समझाएं. उस टाइम दें और उसके साथ बाते करें.

pranjal sachan
Author: pranjal sachan

कानपुर ब्यूरो चीफ अमन यात्रा

pranjal sachan

कानपुर ब्यूरो चीफ अमन यात्रा

Related Articles

Back to top button