Clickadu
फतेहपुरउत्तरप्रदेशफ्रेश न्यूज

अस्ती में सुबह शाम 6 जगहों पर चलायी जा रही मुहल्ला पाठशाला

कोविड-19 महामारी के तहत सभी विद्यालय लंबे समय से बंद हैं। विद्यार्थियों की सीखने की प्रक्रिया को जारी रखने के लिए प्राथमिक विद्यालय अस्ती में मिशन प्रेरणा की ई पाठशाला का संचालन बहुत ही जोर शोर से चल रहा है। ई पाठशाला में आयी शैक्षिक सामग्री को बच्चों तक पहुंचाने के लिए प्राथमिक विद्यालय अस्ती में प्रधानाध्यापिका आसिया फारूकी ने प्रेरणा साथियों का चयन किया है।

Story Highlights
  • दूरदर्शन पर आने वाले कार्यक्रमों का यूट्यूब लिंक अपने मोबाइल फोन से बच्चों को चलाकर उन्हें शिक्षा दे रहे हैं।
  • मैडम आसिया ने बताया की वह अपने जनपद वह अपने स्कूल को प्रेरक बनाने का प्रयास कर रहे हैं।
फतेहपुर,अमन यात्रा :  कोविड-19 महामारी के तहत सभी विद्यालय लंबे समय से बंद हैं। विद्यार्थियों की सीखने की प्रक्रिया को जारी रखने के लिए प्राथमिक विद्यालय अस्ती में मिशन प्रेरणा की ई पाठशाला का संचालन बहुत ही जोर शोर से चल रहा है। ई पाठशाला में आयी शैक्षिक सामग्री को बच्चों तक पहुंचाने के लिए प्राथमिक विद्यालय अस्ती में प्रधानाध्यापिका आसिया फारूकी ने प्रेरणा साथियों का चयन किया है। अस्ती अहारी पर रेहाना बनो, *फाटक टोला पर निशा*पुखरी तालाब पर आसन अस्ती कॉलोनी पर गुड़िया बनो रूरे पर अस्ती में मुस्कान*  प्रधानद्यपिका आसिया फ़ारूकी ने बताया हमारे विद्यालय में 6 गांवों के बच्चे आते है लगभग 300 के पार छात्र संख्या हो चुकी है एकल शिक्षिका होने की वजह से हम प्रेरणा साथियो से कोरोना कॉल में बच्चो की शिक्षा का कार्य  पिछले 6 माह से लगातार इसी तरह अलग अलग जगहों पर कक्षा लगवाकर करते हैं।इस विद्यालय में प्रेरणा साथी अपने आस-पास रहने वाले बच्चों को उनके अभिभावकों से बातचीत करके कोविड-19 गाइड लाइन का पालन करते हुए मास्क लगा के दूर दूर बैठा के गांव में मोहल्ला क्लास लगा रहे हैं।

यह कार्य लगभग 1 माह से निरंतर किया जा रहा है। स्कूल में यह प्रेरणा साथी अपने स्मार्टफोन से शनिवार को आने वाले क्विज  को बच्चों को कराते हैं। जिन बच्चों के पास स्मार्टफोन नहीं है, उनसे संपर्क करके उन्हें शैक्षिक सामग्री का वितरण करते हैं। दूरदर्शन पर आने वाले कार्यक्रमों का यूट्यूब लिंक अपने मोबाइल फोन से बच्चों को चलाकर उन्हें शिक्षा दे रहे हैं। बच्चों के पढ़ाई में  हुए नुख्सान  को कम करने के लिए प्रधानाध्यापिका आसिया फारूकी ने  हर संभव प्रयास किया हैं। प्रधानाध्यापिका ने बताया है। कि इन प्रेरणा साथियों के सहयोग से विद्यालय में  बच्चे e-pathshala से लाभ उठा रहे हैं।इस ग्राम में अब तक रिहाना बानो, अर्शिया, मुस्कान ,रोशनी, आतिफ रजा, विनोद आदि प्रेरणा साथी स्वयं प्रेरणा से इस कार्य में लगे हुए हैं ।बच्चों और अभिभावकों को शिक्षा से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है।मैडम आसिया ने बताया की वह अपने जनपद वह अपने स्कूल को प्रेरक बनाने का प्रयास कर रहे हैं।
कोविड-19 के कारण बच्चों की पढ़ाई के नुक्सान को कम करने में अपनी भूमिका निभा रही हैं। मैडम का कहना है कि सिर्फ बातें ही नहीं बदलाव के लिए काम करना चाहिए बच्चों के नुकसान को भरने का अपने स्तर से प्रयास करना चाहिए हम हर बच्चे को प्रयास करके विद्यालय तक लाने का और e-pathshala से आई सामग्री को उस बच्चे तक पहुंचाने का पूरा प्रयास कर रहे हैं।प्रधानाध्यापिका आसिया फ़ारूकी जब से इस विद्यालय में नियुक्त हुई है। वह बच्चों अभिभावकों व गांव के विकास के लिए कार्य कर रही हैं।
उन्होंने अभिभावकों से अपील की है कि प्रतिदिन एक घंटा फोन और किताबें लेकर बच्चों के साथ बैठकर पढ़ाई करें व्हाट्सएप ग्रुप पर भेजे गए कार्य को कराएं बच्चों को शिक्षा से जोड़ें दूरदर्शन पर आने वाले रोजाना शैक्षिक कार्यक्रमों को बच्चों को जरूर दिखाएं शनिवार को मस्ती भरे क्विज़ आते हैं वह बच्चों से कराएं पीडीएफ में टाइम टेबल दिया होता है,कौन से दिन किस विषय को पढ़ना है और उस विषय के पाठ के आगे एक लिंक दिया होता है।
जिसे क्लिक करके यूट्यूब खुलता है। और बच्चों के पढ़ाई के वेडियो उसमें होते हैं।उन्होंने अभिभावकों और प्रेरणा साथियों से अपील की है कि बच्चों के साथ यह सब गतिविधि घर पर रहकर अवश्य कराएं।
AMAN YATRA
Author: AMAN YATRA

SABSE PAHLE

Related Articles

Back to top button