Clickadu
अपना देश

किसान बिल: पीएम मोदी का विपक्ष पर एक और हमला, बोले- कुछ लोग किसानों की आजादी बर्दाश्त नहीं कर पा रहे

पीएम मोदी ने कहा, “आज ये लोग एमएसपी पर भी भ्रम फैला रहे हैं. MSP लागू करने का काम स्वामीनाथन कमीशन की इच्छा के अनुसार हमारी ही सरकार ने किया.

PM Modi launches six mega projects under Namami Gange Mission in Uttarakhand

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए नमामि गंगे मिशन के तहत हरिद्वार, ऋषिकेश और बद्रीनाथ समेत कई शहरों की 6 बड़ी परियोजनाओं का उद्घाटन किया. इस मौके पर पीएम मोदी ने अपने भाषण के दौरान कृषि कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रही कांग्रेस पर निशाना साधा. पीएम मोदी ने कहा, ‘आज जब केंद्र सरकार, किसानों को उनके अधिकार दे रही है, तो भी ये लोग विरोध पर उतर आए. ये लोग चाहते हैं कि देश का किसान खुले बाजार में अपनी उपज नहीं बेच पाए. जिन सामानों की, उपकरणों की किसान पूजा करता है, उन्हें आग लगाकर ये लोग अब किसानों को अपमानित कर रहे हैं.’

पीएम मोदी ने कहा, “आज ये लोग एमएसपी पर भी भ्रम फैला रहे हैं. MSP लागू करने का काम स्वामीनाथन कमीशन की इच्छा के अनुसार हमारी ही सरकार ने किया. देश में एमएसपी भी रहेगी और किसान को देश में कहीं भी फसल बेचने की आजादी भी रहेगी. लेकिन ये आजादी कुछ लोग बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं.”

“ये लोग न किसान के साथ, न नौजवानों के साथ, न वीर जवानों के साथ”
सर्जिकल स्ट्राइक से लेकर वन रैंक वन पेंशन तक कांग्रेस द्वारा किए गए विरोध प्रदर्शन पर पीएम मोदी ने आड़े हाथो लिया. पीएम मोदी ने कहा, ‘4 साल पहले का यही तो वो समय था, जब देश के जांबांजों ने सर्जिकल स्ट्राइक करते हुए आतंक के अड्डों को तबाह कर दिया था. लेकिन ये लोग अपने जांबाजों से ही सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांग रहे थे. सर्जिकल स्ट्राइक का भी विरोध करके, ये लोग देश के सामने अपनी मंशा साफ कर चुके हैं.’

प्रधानमंत्री ने आगे कहा, ‘ये लोग न किसान के साथ हैं, न नौजवानों के साथ और न वीर जवानों के साथ. हमारी सरकार ने वन रैंक वन पेंशन का लाभ सैनिकों को दिया तो उन्होंने इसका भी विरोध किया. पिछले महीने ही अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए भूमिपूजन किया गया है. ये लोग पहले सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर का विरोध कर रहे थे फिर भूमिपूजन का विरोध करने लगे.’

पीएम मोदी यहीं नहीं रुके, उन्होंने आगे कहा, “वायुसेना कहती रही कि हमें आधुनिक लड़ाकू विमान चाहिए, लेकिन ये लोग उनकी बात को अनसुना करते रहे. हमारी सरकार ने सीधे फ्रांस सरकार से सीधे राफेल लड़ाकू विमान का समझौता कर लिया तो, इन्हें फिर दिक्कत हुई. भारतीय वायुसेना के पास राफेल विमान आए और उसकी ताकत बढ़े, ये उसका भी विरोध करते रहे. लेकिन मुझे खुशी है कि आज राफेल भारतीय वायुसेना की ताकत बढ़ रहा है, अंबाला से लेकर लेह तक उसकी गर्जना भारतीय जांबाजों का हौंसला बढ़ रही है.”

AMAN YATRA
Author: AMAN YATRA

SABSE PAHLE

Related Articles

Back to top button