Clickadu
उन्नावउत्तरप्रदेश

जो लैपटाप चलाना नहीं जानते, वो भला क्यों बांटें : अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री पर एक बार फिर तीखा हमला बोला है। अपने उन्नाव दौरे के दौरान अखिलेश ने सरकार पर एक के बाद एक कई आराेप गढ़े थे।

उन्नाव,अमन यात्रा। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री पर एक बार फिर तीखा हमला बोला है। अपने उन्नाव दौरे के दौरान अखिलेश ने सरकार पर एक के बाद एक कई आराेप गढ़े थे। पंचायत चुनाव में हुई घटनाओं का हवाला देते हुए उन्होंने बुधवार को यहां भारतीय जनता पार्टी पर भी कटाक्ष किया। वहीं, कोरोना संक्रमण के समय में हुई मौतों के विषय में अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा कभी सही आंकड़ा नहीं देगी कि कितने लोगों की मौत कोरोना से हुई है।

महिलाओं के कपड़े खींचने तक से नहीं चूके अनुशासित भाजपाई: समाजवादियों को प्रशासन से कोई शिकायत नहीं है। शिकायत इसलिए नहीं है, क्योंकि अभी कुछ दिन पहले जिला पंचायत, ब्लाक प्रमुख चुनाव में देख लिया है। जिस ईमानदारी से उन्होंने चुनाव कराए, पूरे देश और दुनिया ने देखा है। भाजपा के अनुशासित सिपाही इस सीमा तक पहुंच गए कि महिलाओं के कपड़े तक खींचने से नहीं चूके।

ली चुटकी, प्रोटोकाल टूटे तो दोष प्रशासन का: अखिलेश ने कहा कि कार्यक्रम का यह स्वरूप इसलिए है, क्योंकि प्रशासन ने सिर्फ 50 लोगों की ही अनुमति दी है और 50 लोग तो सिर्फ मेरी सुरक्षा में हैं। सौ लोगों को प्रशासन ने यहां भेज दिया। कुछ और, जबकि बाकी मीडिया के लोग हैं। अब इसके बाद प्रोटोकाल टूटे तो दोष प्रशासन का होगा, उनका नहीं। इससे पहले कार्यक्रम आयोजक पूर्व विधायक रामकुमार ने भी प्रशासन की तरफ से कार्यक्रम के बदलाव आदि को लेकर लगाई गई बंदिशों का जिक्र किया।

पत्रकार बहादुर, खबरों से उन्हें धो दिया

पूर्व सीएम ने कहा कि पत्रकारों ने बहादुरी का काम किया। उन्होंने अपमानित किया, लेकिन तुमने अपनी खबरों से उन्हें धो दिया। यह सबसे बड़ी उपलब्धि है। मैं आपको धन्यवाद देता हूं।

मुख्यमंत्री योगी पर हमला कर भाजपा पर निशाना

सपा अध्यक्ष ने कहा कि सीएम ने लैपटाप नहीं बांटे, क्योंकि वह लैपटाप चलाना नहीं जानते और वो क्या करना जानते हैं, ये नहीं बताएंगे। बोले, किसानों और जनता के साथ धोखा हुआ है। किसानों से आय दोगुनी करने का भाजपा ने वादा किया था, लेकिन साढ़े चार साल में कुछ नहीं किया। अब सरकार को किसानों की आय तो घोषित करनी चाहिए, जिससे उनकी वास्तविक आय पता चले। देश में बड़े पैमाने पर बेरोजगारी, महंगाई बढ़ी है। भाजपा ने अपना संकल्प पत्र कूड़ेदान में फेंक दिया है। कोरोना से लाखों गरीबों की जान चली गई, उन्हें इलाज नहीं मिला, पर सरकार राज्यसभा में बयान दे रही है कि आक्सीजन की कमी से कोई भी मौत नहीं हुई। इन मौतों की जिम्मेदार, केवल भाजपा सरकार है। सबसे सस्ती दवाओं की उपलब्धता ख्वाब ही रहा, बल्कि उनकी ब्लैक में बिक्री हुई।

AMAN YATRA
Author: AMAN YATRA

SABSE PAHLE

Related Articles

Back to top button