Clickadu
फ्रेश न्यूजअच्छी सेहतटिप्सलाइफस्टाइल

पीसीओएस और पीसीओडी से जुड़ी महिलाओं का ऐसा होना चाहिए लाइफस्टाइल, तुरंत होगा फायदा

आजकल लाइफस्टाइल की वजह से ऐसी कई परेशानियां होने लगी हैं जो आपके स्वास्थ्य पर गंभीर असर डालती हैं. बिगड़ी लाइफस्टाइल की वजह से महिलाओं में पाई जाने वाली कॉमन समस्या बन गई है पीसीओडी और पीसीओएस. हार्मोंस में बदलाव और दिनचर्या का इससे गहरा संबंध है. PCOD और PCOS जैसी समस्या आम समस्या नहीं है.

टिप्स : आजकल लाइफस्टाइल की वजह से ऐसी कई परेशानियां होने लगी हैं जो आपके स्वास्थ्य पर गंभीर असर डालती हैं. बिगड़ी लाइफस्टाइल की वजह से महिलाओं में पाई जाने वाली कॉमन समस्या बन गई है पीसीओडी और पीसीओएस. हार्मोंस में बदलाव और दिनचर्या का इससे गहरा संबंध है. PCOD और PCOS जैसी समस्या आम समस्या नहीं है. इससे जूझ रही महिलाओं को कई तरह की तकलीफ का सामना करना पड़ता है. जो महिलाएं इस समस्या से डील कर रही हैं उनकी लाइफ स्टाइल नॉर्मल महिलाओं से अलग होनी चाहिए. उन्हें कुछ खास चीजों का ख्याल रखना चाहिए. जानते हैं पीसीओडी से परेशान महिलाओं को किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

1- लाइफ स्टाइल में करें बदलाव- पीसीओएस की समस्‍या से परेशान महिलाओं को डाइट में लो कैलोरी फूड शामिल करने चाहिए. ऐसी महिलाओं को रोज थोड़ा व्‍यायाम जरूर करना चाहिए. इस समस्या से जूझ रहीं महिलाएं ओवरवेट और इंसुलिन रेजिस्टेंट होती हैं, ऐसे में वजन में कमी आने से आपकी समस्या कम हो सकती है.

2- वजन कंट्रोल रखें- अगर आपका वजन कंट्रोल रहता है तो इससे इंसुलिन और एंड्रोजन का लेवल कम होता है, जिससे ओव्‍यूलेशन को रिस्‍टोर और मेंस्ट्रुअल साइकिल को ठीक करने में मदद मिलती है. जो महिलाएं कंसीव करना चाहती हैं उन्हें अपना वजन जरूर कंट्रोल रखना चाहिए.

3- डाइट में शामिल करें ये चीजें- पीसीओडी और पीसीओस की समस्या से परेशान लोगों को अपनी डाइट का भी ख्याल रखना चाहिए. ऐसे लोगों को खाने में ब्रोकोली, फूलगोभी, पालक, हरी और लाल मिर्च, अंकुरित दालें और हाई फाइबर फूड शामिल करने चाहिए. प्रोटीन के लिए और फाइबर से भरपू खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए.

4- रेगुलर एक्सरसाइज- एक्सरसाइज से न केलव शरीर फिट रहता है बल्कि रोजाना व्‍यायाम करने से ब्‍लड शुगर भी कंट्रोल रहता है. आपकी डेली एक्टिविटी फिजिकल एक्टिवनेस और एक्सरसाइज इंसुलिन रेजिस्टेंस को रोकती हैं जिससे इस समस्या को कंट्रोल किया जा सकता है.

 

5- तनाव से दूर माइंड को फ्रेश रखें पीसीओएस और पीसीओडी से जूझ रही महिलाओं को तनाव से दूर रहना चाहिए. हालांकि कई बार फस्‍ट्रेशन होने लगती है, लेकिन आपकी हेल्थ और पॉजिटिविटी से आप इस समस्या को कम कर सकती हैं.

 

सूचना : इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों की एबीपी न्यूज़ पुष्टि नहीं करता है. इनको केवल सुझाव के रूप में लें. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

AMAN YATRA
Author: AMAN YATRA

SABSE PAHLE

Related Articles

Back to top button