Clickadu
कानपुर देहात

राज्यमंत्री, विधायक, डीएम ने गांधी जयंती पर उनके चित्र पर माल्यार्पण कर उनके कार्यो को किया याद

इस अवसर अन्य अधिकारियों के द्वारा भी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री जी को पुष्प भेंट करते हुए शत-शत नमन किया गया। गांधी जयंती के अवसर पर राज्यमंत्री की अध्यक्षता में दोनों महान विभूतियों के विचारों को अनुसरण करने के उद्देश्य से बृहद विचार गोष्ठी हुई

कानपुर देहात,अमन यात्रा । राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के जन्मदिवस को गांधी जयंती के रूप में मनाया गया कलेक्ट्रेट के सभागार में इलेक्ट्रानिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री अजीत सिंह पाल, सदर विधायक प्रतिभा शुक्ला, जिलाधिकारी डा0 दिनेश चन्द्र, मुख्य विकास अधिकारी जोगिन्दर सिंह, अपर जिलाधिकारी प्रशासन पंकज वर्मा के द्वारा दोनों महान विभूतियों के चित्र का अनावरण करते हुए पुष्पांजलि भेंट की गई। इस अवसर अन्य अधिकारियों के द्वारा भी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री जी को पुष्प भेंट करते हुए शत-शत नमन किया गया।  गांधी जयंती के अवसर पर राज्यमंत्री की अध्यक्षता में दोनों महान विभूतियों के विचारों को अनुसरण करने के उद्देश्य से बृहद विचार गोष्ठी हुई।आयोजित गांधी जयंती के अवसर पर उत्तर प्रदेश सरकार की योजना के तहत 15 दिव्यांग जनों को ट्राई साइकिल भेंट की गयी। विचार गोष्ठी में मुख्य अतिथि के रूप में अपने उद्गार व्यक्त करते हुए राज्यमंत्री अजीत सिंह पाल ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री कोई साधारण व्यक्ति नहीं है। यह दोनों एक विचार हैं, जिसे भारत ही नहीं अपितु पूरे विश्व में गांधी विचारधारा एवं लाल बहादुर शास्त्री का सादा जीवन उच्च विचार का अनुसरण किया जा रहा है। विधायक प्रतिभा शुक्ला ने कहा कि भारतीय स्वतंत्रता की लड़ाई में अंग्रेजों का नारा था कि आपस में तोड़ो और राज करो। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने आजादी की लड़ाई में इसके विपरीत सत्य एवं अहिंसा का मार्ग अपनाते हुए जोड़ों और राज करो नारे को सार्थक करते हुए भारत को आजादी दिलाने में अहम रोल प्ले किया गया। महात्मा गांधी एक व्यक्ति नहीं थे अपितु एक विचारधारा थी जिसे आज भारत ही नहीं उनके सिद्धांतों को पूरे विश्व में अनुसरण किया जा रहा है। इसी प्रकार लाल बहादुर शास्त्री जी भी एक व्यक्ति नहीं विचारधारा थी, जिन्होंने सादा जीवन उच्च विचार को अपने जीवन में अपनाकर पूरे विश्व को संदेश देने का कार्य किया है, जिसे आज पूरा विश्व अनुसरण कर रहा है।जिलाधिकारी डा0 दिनेश चन्द्र ने कहा कि आज गांधी जयंती के शुभ अवसर पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की गांधी विचारधारा एवं लाल बहादुर शास्त्री जी के जीवन चरित्र सादा जीवन उच्च विचार का अनुसरण करते हुए हम अपने देश में सामाजिक न्याय एवं आर्थिक न्याय की लड़ाई पूर्ण कर सकते हैं। अतः आज सभी नागरिकों को अपने जीवन में गांधी विचारधारा एवं शास्त्री जी के आदर्शों को अनुसरण करते हुए अपने भारत देश को सामाजिक न्याय एवं आर्थिक न्याय दिलाने का कार्य करने के पथ पर अग्रसर हो सकते हैं। आज सभी संकल्प लें और दोनों महान विभूतियों की विचारधारा को अपने जीवन में उतारकर भारत देश को सामाजिक न्याय एवं आर्थिक न्याय की स्वतंत्रता दिलाने का कार्य करें। उन्होंने कहा कि कोविड 19 के चलते सफाई कर्मचारियों को जो नगर व क्षेत्र में स्वच्छता के प्रति कार्य किया है वह एक सराहनीय कार्य रहा है। उन्होंने कहा कि कोविड के चलते सभी लोग मास्क लगाये तथा सोशल डिस्टेसिंग का पालन करे। मुख्य विकास अधिकारी जोगिन्दर सिंह ने कहां की यदि हमें अपने समाज एवं देश को गांधी एवं शास्त्री के सपनों का देश बनाना है तो उसके लिए सभी नागरिकों को अपने दायित्वों का खुश होकर निर्वहन करना पड़ेगा जिससे उनके जीवन में तो खुशहाली आएगी वहीं दूसरी ओर पूरा समाज एवं देश भी खुशहाल बन सकेगा। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन पंकज वर्मा ने दोनों महान विभूतियों के जीवन चरित्र पर बहुत ही विस्तार से प्रकाश डालते हुए उनके जीवन चरित्र एवं आदर्शों को अनुसरण करने का संदेश दिया। इसी प्रकार जिला प्रोबेशन अधिकारी अभिषेक पाण्डेय तथा अन्य अधिकारी गणों एवं कर्मचारियों के द्वारा भी जिलाधिकारी की प्रेरणा से दोनों महान विभूतियों के जीवन चरित्र पर अपने अपने माध्यम से प्रकाश डाला गया। गोष्ठी से पूर्व सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों के द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री जी के चित्र पर पुष्प अर्पित करते हुए उन्हें शत-शत नमन किया गया। इस अवसर पर वरिष्ठ कोषाधिकारी केके पाण्डेय, जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण अधिकारी, जिला सूचना अधिकारी वीएन पाण्डेय अन्य संबंधित अधिकारी गण एवं कलेक्ट्रेट स्टॉप उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन निर्वाचन से रामसेवक वर्मा द्वारा सफलता द्वारा किया गया। 

AMAN YATRA
Author: AMAN YATRA

SABSE PAHLE

Related Articles

Back to top button