उत्तरप्रदेशकानपुर देहातफ्रेश न्यूज

शून्य नामांकन वाले विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों पर होगी कार्यवाही

नए शैक्षिक सत्र 2024-25 में सभी परिषदीय विद्यालयों में नामांकन बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है। ग्रीष्मकालीन अवकाश के बाद हुई समीक्षा में जिले के विभिन्न विकासखंडों में कई ऐसे विद्यालय हैं जहां नामांकन की स्थिति बेहद खराब है। बीएसए की ओर से विकासखंडवार विभिन्न ब्लॉकों में स्थित विद्यालयों की सूची तैयार की जा रही है

कानपुर देहात। नए शैक्षिक सत्र 2024-25 में सभी परिषदीय विद्यालयों में नामांकन बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है। ग्रीष्मकालीन अवकाश के बाद हुई समीक्षा में जिले के विभिन्न विकासखंडों में कई ऐसे विद्यालय हैं जहां नामांकन की स्थिति बेहद खराब है। बीएसए की ओर से विकासखंडवार विभिन्न ब्लॉकों में स्थित विद्यालयों की सूची तैयार की जा रही है। नामांकन नहीं बढ़ने पर संबंधित खंड शिक्षा अधिकारी व प्रधानाध्यापक का वेतन रोकने को चेतावनी दिए जाने की तैयारी है। शैक्षिक सत्र 2024-25 में स्कूल चलो अभियान के अंतर्गत प्रेरणा पोर्टल पर कक्षा एक एवं कक्षा छह में शून्य नामांकन वाले विद्यालयों में शत प्रतिशत नामांकन शिक्षकों की ओर से डोर-टू-डोर जाकर करना है। कक्षा एक में बच्चों का नामांकन लक्ष्य से अधिक करना है इसके लिए विभाग की ओर से अप्रैल माह से ही प्रयास किया जा रहा है।

हालांकि ग्रीष्माकालीन अवकाश आरंभ होने के पूर्व में हुई समीक्षा में पाया गया कि कुछ विद्यालयों की ओर से कोई खास प्रयास नहीं किया गया है जबकि इस नए सत्र में प्रत्येक स्कूल में पिछले वर्ष की अपेक्षा 10 प्रतिशत अधिक नामांकन का लक्ष्य रखा गया है वहीं बढ़ने के बजाय स्कूलों में 20 फीसदी छात्र नामांकन घट गया है। वहीं दूसरी ओर जिन विद्यालयों में नवीन नामांकन शून्य है तथा 50 से कम नामांकन है, ऐसे विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों को सख्त निर्देश दिए गए हैं। विभागीय समीक्षा में सोडोओ ने भी इस संबंध में नाराजगी जताई है। ऐसे में संबंधित प्रधानाध्यापक व खंड शिक्षाधिकारी के विरुद्ध वेतन अवरुद्ध और प्रतिकूल प्रविष्टि की कार्यवाही की जा सकती है।

Print Friendly, PDF & Email
anas quraishi
Author: anas quraishi

SABSE PAHLE

Related Articles

AD
Back to top button