Clickadu
कानपुर देहात

सपा नेता सुमित ने हाथरस गैंगरेप के बाद हुई युवती हत्या पर कार्यकर्ताओ संग कैंडिल मार्च निकालकर,दी श्रदांजलि


कानपुर देहात,अमन यात्रा : हाथरस में मनीषा बाल्मीकि के साथ हुए गैंगरेप के बाद उसकी इलाज के दौरान मौत हो जाने पर  समाजवादी नेता पूर्व मंत्री प्रतिनिधि सुमित सचान ने कार्यकर्ताओं के संग कैंडिल मार्च निकालकर दो मिनट का मौन रख गिरदौ में श्रदांजली अर्पित की जंहा कार्यकर्ताओ ने सरकार विरोधी नारे भी लगाए सपा नेता पूर्व मंत्री प्रतिनिधि सुमित सचान ने इस घटना पर दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि सरकार का दोहरा चेहरा बेनकाब हो गया है। बेटी बचाओ -बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली इस सरकार के तीन सालों में अन्याय चरम सीमा पर पहुँच गया है।

निर्भया कांड की पुनरावृति हुई है। उन्होंने योगी सरकार को जनता द्वारा दिये गए व्यापक जनमत का अपमान बताया उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा स्वयं प्रेस विज्ञप्ति जारी कर पीड़िता के मेडिकल रिपोर्ट पर कोई गंभीर चोट न होना बताया जाना सरकार की संवेदनहीनता की परकाष्ठा है। उन्होंने कहा कि इस घटना से यह स्पष्ट हो गया है कि उ.प्र. में बेटी को महफूज रहना है तो स्वयं की सुरक्षा करनी होगी सरकार बेटियों को सुरक्षा देने मे अक्षम है। बेटी मनीषा बाल्मीकि को न्याय मिले दो सप्ताह तक देश की बहादुर बेटी ने ज़िंदगी मौत से जंग लड़ी आखिर बीते दिन पीड़ित बेटी ने उपचार के दौरान अंतिम सांस ली हमारी सूबे की वर्तमान सरकार से मांग है, की सरकार सीबीआई चांज कराए और दोषियों को जल्द से जल्द फांसी की सजा सुनाए.

इस दौरान कैंडिल मार्च पर  मुख्य रूप से लक्ष्मी नारायण प्रधान गिरदौ, मुस्तकीम अहमद पूर्व प्रधान गिरदौ, इरफान खान जिलाध्यक्ष समाजवादी किसान मंच, खलील खान, आजम खान, हाफिज मो. इसरार, परिवेश सचान, राहुल सचान, डॉ. आदित्य सचान,  महेश कुमार शिक्षामित्र,गगन यादव, पवन यादव, राजाराम यादव, लाखन यादव, पंकज गुप्ता, ओमप्रकाश मुंशी जी, शिव कुमार सविता, बबलू सविता, जालिम संखवार, परशुराम संखवार, जय नारायण संखवार, चंद्रशेखर संखवार, अंकुश गौतम, अंकित गौतम, मीरा देवी, शशि देवी, प्रियांशी देवी, पुष्पा देवी सविता, पायल देवी,  सविता, राजकुमारी संखवार, मीना संखवार, पल्लवी संखवार, पंकज गौतम बरौली, शशि देवी , पुष्पा देवी सविता, पप्पी देवी संखवार, आरती देवी संखवार, प्रेम सुधा संखवार, आरती देवी संखवार, सरोज देवी, शानू देवी सहित सैकड़ों की संख्या मे सर्व समाज के लोग उपस्तिथि रहे।

AMAN YATRA
Author: AMAN YATRA

SABSE PAHLE

Related Articles

Back to top button