उत्तरप्रदेशकानपुर देहातफ्रेश न्यूजलखनऊ

सीएम योगी ने की बाढ़ प्रबंधन की तैयारियों की समीक्षा की, मंत्रियों और अधिकारीयों को दिए अहम निर्देश

उत्तर प्रदेश के अधिकतर इलाकों में मानसून के जोर पकड़ने के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की।सीएम ने यूपी में बाढ़ प्रबंधन की तैयारियों की समीक्षा की और व्यापक जनहित में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।सीएम ने बैठक में अफसरों को बेहतर समन्वय,त्वरित कार्रवाई और बेहतर प्रबंधन से बाढ़ की स्थिति में लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के निर्देश दिये

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के अधिकतर इलाकों में मानसून के जोर पकड़ने के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की।सीएम ने यूपी में बाढ़ प्रबंधन की तैयारियों की समीक्षा की और व्यापक जनहित में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।सीएम ने बैठक में अफसरों को बेहतर समन्वय,त्वरित कार्रवाई और बेहतर प्रबंधन से बाढ़ की स्थिति में लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। सीएम योगी ने कहा कि जल शक्ति मंत्री एवं दोनों राज्य मंत्री अति संवेदनशील तथा संवेदनशील क्षेत्रों का भ्रमण करेंगे और बाढ़ बचाव से जुड़ी परियोजनाओं का निरीक्षण करेंगे।बता दें कि महराजगंज,कुशीनगर,लखीमपुर खीरी,गोरखपुर,बस्ती, बहराइच,बिजनौर,सिद्धार्थनगर,गाजीपुर,गोंडा,बलिया,देवरिया,सीतापुर,बलरामपुर,अयोध्या,मऊ,फर्रुखाबाद, श्रावस्ती, बदायूं,आंबेडकर नगर,आजमगढ़,संतकबीर नगर,पीलीभीत और बाराबंकी समेत 24 जिले बाढ़ की दृष्टि से अति संवेदनशील हैं।सहारनपुर,शामली,अलीगढ़,बरेली,हमीरपुर, गौतमबुद्ध नगर,रामपुर,प्रयागराज,बुलन्दशहर,मुरादाबाद, हरदोई,वाराणसी,उन्नाव,लखनऊ,शाहजहांपुर और कासगंज संवेदनशील की श्रेणी में आते हैं।

सीएम योगी ने अधिकारियों को अति संवेदनशील और संवेदनशील क्षेत्रों में बाढ़ की आपात स्थिति के लिए पर्याप्त सामग्री जुटाने और इन स्थलों पर पर्याप्त रोशनी की व्यवस्था तथा आवश्यक उपकरणों का भी इंतजाम करने के निर्देश दिये।बाढ़ और अत्यधिक बारिश की स्थिति की लगातार निगरानी करने के निर्देश देते हुए सीएम ने कहा कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), राज्य आपदा मोचन बल/पीएसी बाढ़ इकाई तथा आपदा प्रबंधन दल दिन-रात मुस्तैद रहें।आपदा मित्र स्वयंसेवकों के साथ-साथ होमगार्ड्स जवानों की सेवाएं भी ली जानी चाहिए। किसकी तैनाती कब और कहां होनी है इस बारे में कार्ययोजना तैयार कर लें। सभी एजेंसियों के बीच बेहतर तालमेल बनाया जाए।

सीएम योगी ने कहा कि अत्यधिक बारिश से फसल खराब होने पर बिना देर किए उसकी क्षतिपूर्ति कराई जाए और इसके अलावा, किसानों को मौसम पूर्वानुमान से अवगत कराते हुए खेती के लिए अनुकूल परिस्थितियों के बारे में जागरूक किया जाए। सीएम ने राज्य और जिला स्तर पर बाढ़ राहत नियंत्रण कक्ष हर वक्त सक्रिय रखने की हिदायत दी और कहा कि उत्तर प्रदेश पुलिस रेडियो मुख्यालय द्वारा बाढ़ से प्रभावित जनपदों में 113 बेतार केंद्र अधिष्ठापित किए गए हैं।

सीएम योगी ने भारत मौसम विज्ञान विभाग,केंद्रीय जल आयोग,केंद्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के साथ यूपी के सिंचाई एवं जल संसाधन,गृह,चिकित्सा एवं स्वास्थ्य,सिंचाई और अन्य संबंधित विभागों से बेहतर तालमेल स्थापित करने और केंद्रीय एजेंसियों तथा विभागों से लगातार संपर्क बनाए रखने के निर्देश भी दिये। बैठक में अधिकारियों ने सीएम योगी को बताया कि अति संवेदनशील के रूप में चिह्नित 17 जिलों में 37 तटबंधों की मरम्मत का काम पूरा कर लिया गया है।सभी अति संवेदनशील तटबंधों पर प्रभारी अधिकारी,सहायक अभियन्ता नामित किये जा चुके हैं और क्षेत्रीय अधिकारियों,कर्मचारियों द्वारा लगातार तटबंधों का निरीक्षण किया जा रहा है।

Print Friendly, PDF & Email
anas quraishi
Author: anas quraishi

SABSE PAHLE

Related Articles

AD
Back to top button