Clickadu
उत्तरप्रदेश

हाथरस : पीड़ित परिवार से मिलने जा रहे TMC नेता डेरेक ओ ब्रायन धक्का मुक्की में गिरे नीचे

हाथरस मामले में पीड़िता के पिता ने आरोप लगाया कि उन पर सरकारी अधिकारी दबाव डाल रहे हैं. उन्होंने मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की है.

TMC Derek O'Brien, stopped at Hathras border on their way to meet family of Hathras incident victim

उत्तर प्रदेश के हाथरस में गैंगरेप पीड़ित के परिवार से मिलने आ रहे राजनेताओं का सिलसिला जारी है. आज TMC सांसद डेरेक ओ ब्रायन अपने कार्यकर्ताओं के साथ हाथरस पहुंचे, लेकिन पुलिस ने उन्हें पीड़ित परिवार के गांव के अंदर जाने से रोक दिया. इस दौरान तृणमूल कांग्रेस के नेता डेरेक ओ ब्रायन धक्का मुक्की में नीचे गिर गए. हालांकि फिर तुरंत उन्हें उठा लिया गया. पुलिस और टीएमसी कार्यकर्ताओं में जमकर बहसबाजी भी हुई.

टीएमसी सांसद प्रतिमा मंडल ने कहा, ‘हमें ममता बनर्जी ने पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए भेजा है ताकि वह हम संवेदना व्यक्त कर सके. हमने अपना परिचय भी दिया, लेकिन हमें उनसे मिलने नहीं दिया गया और पुलिस द्वारा धक्का मुक्की की गई. अगर वो एक महिला सांसद का सम्मान नहीं कर सकते हैं तो आम लोगों की स्थिति की कल्पना करें.’

हाथरस मामले को लेकर उत्तर प्रदेश पुलिस सवालों के घेरे में है. एक दिन पहले हाथरस पैदल जा रहे राहुल गांधी के साथ यूपी पुलिस ने धक्कामुक्की की थी. इस दौरान राहुल गांधी जमीन पर गिरे गए थे. राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को हाथरस जाने से रोकने के बाद पुलिस उन्हें जीप में बैठाकर एक्सप्रेस वे से लेकर चली गई थी.

हाथरस मामले में पीड़िता के पिता ने आरोप लगाया कि उन पर सरकारी अधिकारी दबाव डाल रहे हैं. उन्होंने मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की है. परिवार ने आरोप लगाया कि जिला प्रशासन अपने बयान बार-बार बदलने बदलने को लेकर दबाव डाल रहा है.

एबीपी टीम को गैंगरेप पीड़िता के घर जाने से रोका
आज हाथरस में एबीपी न्यूज की टीम ने गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मिलने की कोशिश की तो उन्हें रोक दिया गया. एबीपी न्यूज के कैमरा को जबरन बंद कर दिया गया और एबीपी न्यूज की पत्रकार प्रतिमा मिश्रा को खेतों से आने के कारण चोर कहा गया.

2 दिन से मीडियाकर्मियों का जमावड़ा हाथरस में पीड़ित परिवार के घर जाने के लिए मुख्य रास्ते पर बना हुआ था लेकिन एबीपी न्यूज़ की रिपोर्टर प्रतिमा मिश्रा ने किसी तरह खेतों के रास्ते पीड़ित परिवार के पास जाने का रास्ता निकाल लिया लेकिन घर से सिर्फ कुछ मीटर की दूरी पर उन्हें पुलिस के अमले ने रोक लिया और उन्हें तथा कैमरामैन के साथ बदसलूकी की गई. साफ तौर पर हाथरस कांड पर सच दबाने की कोशिश यूपी प्रशासन द्वारा की जा रही है.

AMAN YATRA
Author: AMAN YATRA

SABSE PAHLE

Related Articles

Back to top button