Clickadu
औरैयाउत्तरप्रदेशफ्रेश न्यूज

इंस्पायर अवार्ड के अन्तर्गत टॉप 60 में नहीं मिल पाई जगह लेकिन मिला बेहतर अनुभव : रामेन्द्र सिंह कुशवाहा

इंस्पायर अवार्ड मानक योजना के अंतर्गत वर्ष 2020 - 21 में स्वामी विवेकानन्द इण्टर कालेज सहार के भौतिकी प्रवक्ता रामेन्द्र सिंह कुशवाहा ने कक्षा 7 में पढ़ने वाले छात्र सुमित कुमार का आइडिया पंजीकृत किया था। सुमित कुमार ने जिला व राज्य से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक प्रतिभाग किया।

दिबियापुर,औरैया।  इंस्पायर अवार्ड मानक योजना के अंतर्गत वर्ष 2020 – 21 में स्वामी विवेकानन्द इण्टर कालेज सहार के भौतिकी प्रवक्ता रामेन्द्र सिंह कुशवाहा ने कक्षा 7 में पढ़ने वाले छात्र सुमित कुमार का आइडिया पंजीकृत किया था। सुमित कुमार ने जिला व राज्य से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक प्रतिभाग किया। परंतु अंतरराष्ट्रीय स्तर के लिए चयनित टॉप 60 में जगह न बना पाने के कारणों पर चर्चा करते हुए भौतिकी प्रवक्ता रामेन्द्र सिंह कुशवाहा ने कहा कि हम अपने आइडिया पर आधारित मॉडल को तकनीकी रूप से संशोधित नहीं कर पाए और इसी वजह से बेहतर प्रस्तुतिकरण नहीं दे पाए। जबकि जो मॉडल चयनित हुए हैं उनमें इनोवेशन का जबरदस्त समावेश देखने को मिलता है। परन्तु इस दौरान जो अनुभव प्राप्त हुआ है, उसका अपने जनपद के सैकड़ों छात्र छात्राओं को लाभ अवश्य मिलेगा।

  ये भी पढ़े-जनपद को निपुण बनाने के लिए प्रत्येक स्तर पर हो प्रभावी अनुश्रवण : रिद्धि पाण्डेय   

उन्होंने इस योजना के बारे में विस्तार से चर्चा करते हुए बताया कि विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग भारत सरकार और राष्ट्रीय नवप्रवर्तन प्रतिष्ठान भारत के संयुक्त प्रयास से देशभर के सरकारी, गैर सरकारी व निजी विद्यालयों के कक्षा 6 से 10 तक में पढ़ने वाले होनहार और प्रतिभावान छात्र छात्राओं के बीच रचनात्मकता और अभिनव सोच की संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए उनसे नवाचारी आइडिया प्राप्त करने और उन्हें जनपद, राज्य व राष्ट्रीय स्तर से अन्तर्राष्ट्रीय स्तर तक पहचान दिलाने के लिए वर्ष 2008 में इंस्पायर अवार्ड मानक योजना की शुरुआत की गई थी। वर्तमान सत्र 2022-23 में दसवीं राष्ट्रीय प्रदर्शनी एवं परियोजना प्रतियोगिता के लिए 30 सितंबर तक विद्यालय स्तर पर पंजीकरण प्रक्रिया जारी है। प्रत्येक विद्यालय केवल 5 छात्र छात्राओं को उनके मूल विचारों के साथ पंजीकरण कर सकते हैं। देशभर से चयनित एक लाख आइडिया को सीधे दस हजार रुपए डीबीटी के जरिए बच्चे के खाते में ट्रांसफर किए जाते हैं। इस धनराशि से बच्चा अपने मॉडल को जिला स्तर पर पर प्रदर्शित करता है ।

ये भी पढ़े-  पल्स पोलियो अभियान में रविवार को खुलेंगे सभी परिषदीय स्कूल

जहां से दस हजार आइडिया को राज्य स्तर पर भेजा जाता है । राज्य स्तर से एक हजार आइडिया को राष्ट्रीय स्तर के लिए चयनित किया जाता है जो राष्ट्रीय स्तर की प्रदर्शनी में अपना प्रस्तुतिकरण देते हैं। यहां से चयनित टॉप 60 को राष्ट्रपति भवन में जाने का अवसर मिलता है। और फिर इन्हीं 60 बच्चों को अंतर्रष्ट्रीय स्तर पर किसी देश की यात्रा करने का अवसर मिलता है। इसके साथ ही उन्हें रोजगार चुनने के लिए आवश्यक अवसरों के साथ ही उन्हें विज्ञान सम्बन्धी रोजगारपरक शोध कार्यों के लिए वित्तीय सहायता भी प्रदान की जाती है।

AMAN YATRA
Author: AMAN YATRA

SABSE PAHLE

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button