Clickadu
कानपुर देहातउत्तरप्रदेशफ्रेश न्यूज

डीबीटी की सुविधा से वंचित परिषदीय स्कूलों के बच्चों का बनवाना होगा आधार कार्ड

परिषदीय विद्यालयों में शिक्षा ग्रहण करने वाले पौने दो लाख बच्चों में से तकरीबन 20 हजार से अधिक बच्चों की डीबीटी (डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर) पर संकट गहराता हुआ नजर आ रहा है। यह इसलिए क्योंकि अभी तक इन बच्चों का आधार कार्ड ही नहीं बना है।

कानपुर देहात,अमन यात्रा ।  परिषदीय विद्यालयों में शिक्षा ग्रहण करने वाले पौने दो लाख बच्चों में से तकरीबन 20 हजार से अधिक बच्चों की डीबीटी (डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर) पर संकट गहराता हुआ नजर आ रहा है। यह इसलिए क्योंकि अभी तक इन बच्चों का आधार कार्ड ही नहीं बना है। बिना आधार कार्ड के बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। लिहाजा अगर बच्चों का आधार कार्ड सितंबर माह तक नहीं बना तो बच्चे डीबीटी से वंचित रह जाएंगे। आधार कार्ड की धीमी प्रगति पर बीएसए ने सभी बीईओ को जल्द से जल्द आधार कार्ड बनवाने के निर्देश दिए हैं.

ये भी पढ़े-  प्रतिस्पर्धा ने बच्चों के संस्कारों का कर लिया हरण

सरकार स्कूलों में पढ़ रहे सभी छात्रों का आधार कार्ड बनाने पर जोर दे रही है। इस बाबत महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरण आनंद ने सभी जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि जहां विद्यार्थियों और आधार से जुड़ा डाटा संदिग्ध हो उसे एक हफ्ते में परीक्षण करके सत्यापित कर लें। इससे यह भी पारदर्शिता रहेगी कि एक छात्र एक ही विद्यालय में आने वाली धनराशि का उपयोग कर सकेगा क्योंकि पिछले सत्र में कुछ छात्रों का फर्जीवाड़ा सामने आया था जिसमें कुछ छात्रों द्वारा दो जगह से यह धनराशि ली गई थी।

बीआरसी पर मौजूद है संसाधन-

परिषदीय विद्यालयों में शिक्षा ग्रहण कर रहे छात्रों में हजारों नौनिहालों का आधार कार्ड अभी अधर में लटका हुआ है। यह आकंड़ा तब है जब शासन ने स्वयं बीआरसी पर बच्चों के आधार कार्ड बनवाने की दो किट प्रत्येक विकासखंड में 4 वर्ष पहले से उपलब्ध करा रखी हैं लेकिन विभाग के ढुलमुल रवैए की वजह से सभी बच्चों के आधार कार्ड नहीं बन सके हैं। बीएसए रिद्धी पाण्डेय ने सभी बीईओ को कड़े निर्देश जारी करते हुए जल्द से जल्द वंचित चल रहे छात्रों के आधार कार्ड बनवाने के आदेश दिए हैं।

AMAN YATRA
Author: AMAN YATRA

SABSE PAHLE

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button