Clickadu
औरैयाउत्तरप्रदेशफ्रेश न्यूज

छात्र की मौत के मामले में आरोपी शिक्षक गिरफ्तार भेजा कोर्ट

गांव वैशोली निवासी छात्र निखित की शिक्षक की पिटाई के बाद इलाज के दौरान मौत हो गई थी। घटना के बाद जमकर बवाल उपद्रव और आगजनी हुई थी। आरोपी शिक्षक को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस की चार टीमें लगी थी। गुरुवार को पुलिस ने आरोपी शिक्षक को अछल्दा के पास से सामान लेकर फरार होते समय गिरफ्तार कर किया।

औरैया, विकास सक्सेना । गांव वैशोली निवासी छात्र निखित की शिक्षक की पिटाई के बाद इलाज के दौरान मौत हो गई थी। घटना के बाद जमकर बवाल उपद्रव और आगजनी हुई थी। आरोपी शिक्षक को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस की चार टीमें लगी थी। गुरुवार को पुलिस ने आरोपी शिक्षक को अछल्दा के पास से सामान लेकर फरार होते समय गिरफ्तार कर किया। न्यायाल से आरोपी शिक्षक को जेल भेज दिया गया। शिक्षक को डीआईओएस के आदेश पर कॉलेज प्रबंधन ने निलंबित कर दिया है।
अछल्दा के आदर्श इंटर कॉलेज में  सात सितंबर को कक्षा 10 के छात्रों का टेस्ट था। वैशोली गांव निवासी राजू दोहरे का पुत्र निखित टेस्ट देने गया था। 15 वर्षीय निखित कुमार  पुत्र राजू दोहरें का एक शब्द गलत लिख जाने पर छात्र की डंडा व लात- घुसों से पिटाई की गई। जिससे वह बेहोश गया था। क्षेत्र के ग्राम वैशोली निवासी राजू दोहरें पुत्र सोबरन सिंह ने थाना में मामला दर्ज कराया था कि कस्बें के आदर्श इंटर कालेज में मेरा पुत्र कक्षा दस का छात्र है। सात सितंबर को कॉलेज में दूसरे घण्टें में सामाजिक विज्ञान प्रवक्ता अश्वनी सिंह ने  टेस्ट ले  रहे थे। बच्चे का एक शब्द गलत लिख जाने पर डंडे से पिटाई बाल पकड़कर  लात घूंसों से पिटाई कर देने से छात्र बेहोश हो गया था। कालेज अध्यपक ने उसका पूरा उपचार कराने का खर्चा का आश्वाशन देकर इटावा में प्राइवेट अस्पताल में भर्ती करवाया था। उपचार में लगभग 40 हजार रुपए खर्च शिक्षक ने वहन किया। हालत में सुधार न होने पर लखनऊ में चिकित्सक ने मना कर दिया। पीड़ित ने अध्यापक से कहा कि पुत्र का उपचार कराओ। उसने इलाज करने से मना करते हुए उसे जाति सूचक गालियां देते हुए भगा दिया। पीड़ित पिता की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया था और छात्र को सैफ़ई में भर्ती कराया गया था। जहां पर सोमवार को उपचार के दौरान छात्र की मौत हो गई। इसके बाद शव रखकर परिजनो ने न्याय की मांग की। भीम आर्मी से लेकर तमाम लोगों ने हंगामा किया। हंगामा इतना बढा कि पुलिस पर पथराव कर दिया पुलिस की जीप को आग के हवाले कर दिया था। इसके बाद जमकर बवाल व उपद्रव किया। कई घण्टे बाद प्रशासन ने मंगलवार की सुबह छात्र का अंतिम संस्कार कर पाया। इसके बाद प्रशासन ने शिक्षक पर विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करने के साथ ही बवाल करने वालों में 35 नमाजद व 200 से 250 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। एसपी चारु निगम ने शिक्षक की गिरफ्तारी को चार टीमों का गठन किया था। गुरुवार की दोपहर पुलिस ने आरोपी शिक्षक अश्वनी सिंह को  ग्वारी ग्राम के सामने स्थित पेट्रोल पम्प के सामने से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त शिक्षक को गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।
डीआईओएस चंद्रशेखर मालवीय ने बताया कि आरोपी शिक्षक को निलंबित कर दिया गया है
औरैया। छात्र की मौत के बाद उपद्रव, प्रदर्शन कर सरकारी वाहनो से साथ आगजनी करने के सात आरोपी गिरफ्तार, नौ पहले चुके गिरफ्तार,35 नामजद व 200-250 अज्ञात पर है मुकदमा। शिक्षक की पिटाई से छात्र निखित की मौत के बाद जमकर उपद्रव हुआ था। पुलिस जीप फूंक दी गई थी। डीएम समेत कई गाड़ियों में तोड़फोड़ की गई थी। पुलिस ने इस मामले में 35 नामजद व 200 से 259 अज्ञात पर मुकदमा लिखा था। घटना के दूसरे दिन पुलिस ने नौ आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। गुरुवार को पुलिस ने सात और आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। 26 सितंबर को वैशोली निवासी छात्र निखित की मौत शिक्षक की पिटाई से हुई थी। इटावा से पोस्टमार्टम होकर आने के बाद परिजन शव रखकर न्याय की मांग कर रहे थे। इसी दौरान हंगामा और बवाल शुरू हुआ। उपद्रवियों ने पुलिस फोर्स को खदेड़ दिया। पुलिस जीप में आग लगा दी। कई गाड़ियां फोड़ दी। किसी तरह हालात दूसरे दिन काबू आ पाए। पुलिस ने घटना के सीसीटीवी फुटेज निकलवाए। मृतक छात्र के पिया राजू समेत 35 नमाजद व 200 से 250 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो कर लिया गया। इस मामले में पुलिस ने नौ लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। गुरुवार को पुलिस ने उमेश कुमार पुत्र अंगनू लाल निवासी बघईपुर थाना अछल्दा , सुनील कुमार पुत्र मुन्नालाल निवासी मोहम्मदाबाद थाना अछल्दा , ओमकार पुत्र मुन्नालाल निवासी मोहम्मदाबाद थाना अछल्दा ,तेजबाबू पुत्र सुघर सिंह उम्र 35 बर्ष निवासी ग्राम दलीपपुर ,आनन्द कुमार पुत्र चन्द्रशेखर निवासी झावरपुर्वा थाना दिवियापुर,अजीत कुमार पुत्र रामप्रकाश ,भवानी सिंह पुत्र अरविन्द सिंह निवासी बिनपुरापुर थाना दिवियापुर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। एसपी चारु निगम ने बताया कि चिन्हित कर आरोपियों की तलाश की जा रही है। गलत किसी को जेल नहीं भेजा जाएगा।
नोट – सर जी ये खबर अवश्य लगा दीजिए
AMAN YATRA
Author: AMAN YATRA

SABSE PAHLE

Related Articles

Back to top button