Clickadu
कानपुर देहातउत्तरप्रदेशफ्रेश न्यूज

पानी की सप्लाई सहीं न होने एवं टूटी हुई नालियां देख मुख्य विकास अधिकारी का हुआ पारा गरम

मुख्य विकास अधिकारी सौम्या पांडेय ने सरवनखेड़ा पेयजल परियोजना का निरीक्षण किया, निरीक्षण के दौरान जल निगम विभाग द्वारा बताया गया कि यह परियोजना वर्ष 2014-15 में कार्य प्रारंभ हुआ था, जिसका वर्ष 2019-20 में कार्य पूर्ण हो चुका है.

Story Highlights
  • सीडीओ सौम्या पांडेय ने सरवनखेड़ा पेयजल परियोजना का किया निरीक्षण
  • परियोजना की टीपीआई द्वारा जांच कराकर रिपोर्ट के तहत जल निगम विभाग के अधिकारियों की जिम्मेदारी की जाए तय
  • नंदीशाला जाने हेतु संपर्क मार्ग ख़राब पाए जाने गांव में कोई भी विकास कार्य ना पाए जाने पर खंड विकास अधिकारी सहित सचिव से किया स्पष्टीकरण तलब

कानपुर देहात, अमन यात्रा  :  मुख्य विकास अधिकारी सौम्या पांडेय ने सरवनखेड़ा पेयजल परियोजना का निरीक्षण किया, निरीक्षण के दौरान जल निगम विभाग द्वारा बताया गया कि यह परियोजना वर्ष 2014-15 में कार्य प्रारंभ हुआ था, जिसका वर्ष 2019-20 में कार्य पूर्ण हो चुका है, इस परियोजना में सरवनखेड़ा क्षेत्र के 1299 हाउस कनेक्शन दिए गए, इसकी छमता 750 केएल 20 मी0, सम्मलित मजरो की संख्या 11 , लागत करीब 4 करोड़ है ,ग्राम प्रधान द्वारा बताया गया कि इस परियोजना से 4 गांव छूटे हुए हैं, जो सिकंदरपुर, मरदनपुर, रंजीतपुर, त्रिवेदिन पुरवा मे इस परियोजना से पानी की सप्लाई सही नहीं हो पा रही है, नालियां टूटी हुई हैं, जिस पर मुख्य विकास अधिकारी ने कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए जल निगम विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया है कि इस परियोजना की टीपीआई द्वारा परियोजना की जांच कराकर रिपोर्ट के तहत जल निगम विभाग के अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की जाएगी, वही सौर ऊर्जा व विद्युत द्वारा संचालित नलकूप भी खराब पाए गए जिस पर मुख्य विकास अधिकारी ने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए संपूर्ण व्यवस्थाएं दुरुस्त करने के निर्देश दिए।

ये भी पढ़े-  पति की जबरदस्ती से गर्भवती हुई पत्नी भी करा सकेगी गर्भपात, MTP एक्ट पर SC का जाने आदेश

इसके पश्चात मुख्य विकास अधिकारी ने सरवनखेड़ा मजरा में निर्माणाधीन नंदीशाला का भी निरीक्षण किया, जहां पर नंदी शाला जाने हेतु संपर्क मार्ग बहुत ही खराब पाया गया एवं गांव में कोई भी विकास कार्य ना पाए जाने पर कड़ी नाराजगी वह व्यक्त करते हुए खंड विकास अधिकारी उमाशंकर सहित सचिव सरवन खेड़ा नमिता मिश्रा से स्पष्टीकरण तलब करने के साथ ही, गौशाला के निर्माण कार्य में कोई प्रगति ना मिलने पर 1 सप्ताह में निर्माण कार्य में प्रगति लाने के निर्देश दिए।

ये भी पढ़े-   महिलाएं आत्मनिर्भर बनने के लिए समूहों एवं योजनाओं के माध्यम से अपना विकास कर सकते हैं : सीडीओ सौम्या

उन्होंने कहा कि इस कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसके पश्चात उन्होंने लोधी फतेहपुर पंचायत भवन का निरीक्षण किया, पंचायत भवन अत्यधिक जर्जर पाए जाने एवं पंचायत सहायक के बैठने के स्थान पर कोई व्यवस्था आदि ना पाए पर उन्होंने उपस्थित ग्राम पंचायत अधिकारी जय सिंह को कड़ी फटकार लगाते हुए पंचायत भवन के कायाकल्प कराए जाने के निर्देश दिए, उन्होंने कहा कि गांव में साफ सफाई सफाई कर्मचारियों द्वारा प्रतिदिन कराएं एवं खेल के मैदान, हाट बाजार, विद्यालयों में कायाकल्प आदि का कार्य पूर्ण कराएं, इसमें किसी प्रकार की लापरवाही ना की जाए, वहीं उन्होंने उपस्थित खंड विकास अधिकारी को भी कड़ी फटकार लगाते हुए क्षेत्र में भ्रमण कर संपूर्ण व्यवस्थाएं दुरस्त करने के निर्देश दिए।

ये भी पढ़े-  काले बादलों को देख के मन डर गया है।

इसके पश्चात मुख्य विकास अधिकारी ने फतेहपुर रोशनाई में संचालित गौशाला का निरीक्षण किया, निरीक्षण के दौरान उपस्थित केयरटेकर द्वारा बताया गया कि 38 गोवंश है कोई गोवंश अस्वस्थ नहीं है, मुख्य विकास अधिकारी ने ग्राम पंचायत अधिकारी को निर्देशित किया कि गौशाला में गोवंशो हेतु हरा चारा, पानी, चोकर,चून्नी इत्यादि व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के निर्देश दिए तथा कहा की इस गौशाला को एक मॉडल गौशाला के रूप में संचालित करें।इसके पश्चात मुख्य विकास अधिकारी ने सरवनखेड़ा ब्लॉक क्षेत्र में निर्माणाधीन अमृत सरोवर मोहाना का निरीक्षण किया, निरीक्षण के दौरान उपस्थित ग्राम विकास अधिकारी प्रदीप शुक्ला ने बताया कि इस अमृत सरोवर का निर्माण कार्य 25 अप्रैल 2022 को शुभारंभ किया गया था, इसका क्षेत्रफल 1 एकड़ है, वही मुख्य विकास अधिकारी ने कार्य में अच्छी प्रगति ना होने पर ग्राम विकास अधिकारी को कड़ी फटकार लगाते हुए प्रगति लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस तालाब को एक अच्छा स्वरूप प्रदान करें, क्योंकि यहां पर अमृत वाटिका बड़े देव मंदिर खेल मैदान आदि हैं, यहां पर संपूर्ण व्यवस्थाएं दुरुस्त कराएं। इस मौके पर जिला विकास अधिकारी गोरखनाथ भट्ट, पीडी दिनेश कुमार यादव आदि अधिकारी गढ़वा कर्मचारी उपस्थित रहे ।

AMAN YATRA
Author: AMAN YATRA

SABSE PAHLE

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button